ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
यूपी : योगी आदित्यनाथ को फिर मिली धमकी, मुख्तार अंसारी को जेल से रिहा करने की मांग
September 26, 2020 • परिवर्तन चक्र • उत्तर प्रदेश

इधर इस धमकी भरे मैसेज के आने के बाद लखनऊ हजरतगंज इंस्पेक्टर अंजनी कुमार पांडेय ने मुकदमा दर्ज कराया है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धमकी दी गई है। योगी आदित्यनाथ को राज्य के 112 नंबर सर्विस के व्हाट्सऐप नंबर पर धमकी दी गई है। कहा जा रहा है कि व्हाट्सऐप नंबर पर कई धमकी भरे मैसेज भेजे गए हैं। पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने मीडिया को यह जानकारी दी है। बताया जा रहा है कि धमकी भेजने वाले शख्स ने बाहुबली मुख्तार अंसारी को 24 घंटे के अंदर जेल से रिहा करने की मांग की है।

जो धमकी भरा मैसेज भेजा गया है उसमें यह भी कहा गया है कि अगर मुख्तार अंसारी को जेल से रिहा नहीं किया गया तो 25 सितंबर तक सरकार मिटा दी जाएगी। इधर इस धमकी भरे मैसेज के आने के बाद लखनऊ हजरतगंज इंस्पेक्टर अंजनी कुमार पांडेय ने मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस का कहना है कि धमकी देने के आरोपी युवक का लोकेशन पता लगा लिया गया है जल्दी ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि धमकी भरे मैसेज बुधवार सुबह 9.56 से 10.11 बजे के बीच भेजे गए थे। मैसेज में सीएम के प्रति अभद्र बातें करने के साथ ही मुख्तार को 24 घंटे के भीतर जेल से बाहर निकलने की बात कही गई थी। धमकी देने वाले ने मैसेज में लिखा था कि मुख्तार को जेल से नहीं छुड़ाया गया तो सरकार मिटा दी जाएगी।

बता दें सीएम योगी को लेकर पहले भी कई बार धमकी भरे मैसेज यूपी 112 के पास आ चुके हैं। जिसके बाद लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा भी बढ़ाई गई थी। इसी साल जून में यूपी पुलिस की इमरजेंसी सर्विस यूपी 112 के व्हाट्सएप नंबर पर एक धमकी भरा मैसेज भेजा गया, जिसमें यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी। इससे पहले मई महीने में भी ऐसी ही एक धमकी पर मुंबई के कामरान अमीन को यूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था।