ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
यूपी की योगी सरकार दीपावली के मौके पर पूर्वांचल के लोगों को बड़ी सौगात देने की तैयारी में है
September 24, 2020 • परिवर्तन चक्र • उत्तर प्रदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर से लगभग 52 किलोमीटर दूर कुशीनगर जिले में स्थित इस इस हवाई अड्डे को पड़रौना हवाई अड्डे के रूप में भी जाना जाता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में इस साल जून में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कुशीनगर को एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के रूप में मान्यता देने का फैसला हुआ था. देश में यह 29वां और उत्तर प्रदेश में चौथा हवाई अड्डा है. ग्रेटर नोएडा में बनने वाला जेवर हवाई अड्डा भी इसी में शामिल है. कुशीनगर का अपना रणनीतिक महत्व है क्योंकि यह अंतरराष्ट्रीय सीमा के नजदीक है. एयरपोर्ट शुरू करने का ऐलान करते हुए सीएम योगी ने कहा कि कुशीनगर का पूरा इलाका बुद्ध सर्किट का हिस्सा है, इसलिए हवाई अड्डा बनने से विदेशी पर्यटकों की आवक बढ़ेगी.

मुख्यमंत्री ने कहा, पूर्वी यूपी क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावना है और इसीलिए अधिकारियों को एक अंतरराष्ट्रीय पर्यटन केंद्र के रूप में इसे विकसित करने के लिए जनप्रतिनिधियों के परामर्श से एक योजना तैयार करने का निर्देश दिया गया है. एयरपोर्ट के बारे में एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, बिहार और यूपी के युवा रोजगार के लिए बड़ी संख्या में खाड़ी देश जाते हैं. यह एयरपोर्ट ऐसे युवाओं को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में मदद करेगा. उधर मुख्यमंत्री ने अपनी बैठक में 1922 चौरी-चौरा आंदोलन की शताब्दी धूमधाम से मनाने का ऐलान किया. 

मुख्यमंत्री ने गोरखपुर मंडल के जिलों गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर और महाराजगंज की विकास परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए दो महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में सभी जिलों के जनप्रतिनिधि मौजूद थे. सीएम योगी ने प्रतिनिधियों के साथ बातचीत की और अपने निर्वाचन क्षेत्रों में विकास परियोजनाओं पर उनकी प्रतिक्रिया जानी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को राज्य के पूर्वी हिस्से में बाढ़ के खतरे के स्थायी समाधान के लिए एक कार्य योजना बनाने का भी निर्देश दिया.