ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
यूपी : आश्रम में साधु समेत 3 लोगों की ईंट से कुचलकर हत्या! 
September 1, 2020 • परिवर्तन चक्र

-ग्राम-प्रधान से लेकर चौकीदार सभी से पूछताछ।

-उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के एक आश्रम में साधू समेत तीन लोगों की हत्या कर दी गई। 

-बताया जा रहा है कि तीन लोगों की हत्या ईंट से कुचल कर की गई है। इस ट्रिपल मर्डर के बाद यहां सनसनी फैल गई है। 

-साधू समेत 3 लोगों की हत्या के बाद यहां तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई। 

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के एक आश्रम में साधू समेत तीन लोगों की हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि तीन लोगों की हत्या ईंट से कुचल कर की गई है। इस ट्रिपल मर्डर के बाद यहां सनसनी फैल गई है।

टाडियावा थाना क्षेत्र के कुआंमऊ गांव में तीन लोगों की हत्या हुई है। स्थानीय लोगों के मुताबिक ये साधु थे और आश्रम में अपने बेटे और एक महिला के साथ रहते थे। हरदोई के SP अमित कुमार ने बताया, “संपत्ति और जमीन को लेकर कई सारे विवाद सामने आ रहे हैं, पुलिस कई पहलुओं पर जांच कर रही है।”

मृतक साधु का नाम हीरादास बताया जा रहा है। साधु और उनके पत्नी तथा बेटे की लाश आश्रम के एक कमरे से मिली है। यह आश्रम गांव से करीब 500 मीटर की दूरी पर बना हुआ था। आश्रम में तीन हत्याओं की सूचना मिलने पर यहां के पुलिस अधीक्षक समेत कई अन्य आलाधिकारी तुरंत मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने इस मामले में ग्राम-प्रधान से लेकर चौकीदार तक से पूछताछ की है और सुराग तलाशने की कोशिश जारी है।

हालांकि इस हत्याकांड के बाद गांव में तनाव भी फैल गया था। किसी तरह की अनहोनी की आशंका को देखते हुए यहां भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। एसपी अमित कुमार ने बताया कि मामले की जांच चल रही है। जल्द ही वारदात की वजह का पता लगाया जाएगा। पुलिस के साथ-साथ फॉरेंसिक विशेषज्ञों की टीम ने भी मौका-ए-वारदात की छानबीन की है और अपनी तरफ से सबूत जुटाए हैं।

इधर इस पूरी घटना पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि ‘हरदोई जिले में तीन लोगों की सोते समय ईंट पत्थर से कुचल कर हत्या करना अति दुखद है। ऐसी बढ़ती घटनाएं चिंताजनक है। सरकार इस ओर ध्यान दे तो बेहतर होगा।’

कहा जा रहा है कि सोमवार की देर रात अपराधियों ने इन तीनों लोगों पर हमला उस वक्त किया जब यह सभी गहरी नींद में थे। तीनों लोगों को मौत के घाट उतारने के बाद अपराधी मौके से फरार हो गए। साधु और उनका परिवार पिछले करीब 20 सालों से यहां रह रहा था।