ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
WHO के प्रमुख ने कहा-तेजी से हो रहा है कोरोना वायरस का प्रसार, हम नए और खतरनाक चरण में
June 20, 2020 • परिवर्तन चक्र

जिनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी का प्रसार ‘तेजी से’ हो रहा है और गुरुवार को एक दिन में अब तक के सर्वाधिक मामले सामने आए. डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि नए मामलों में से लगभग आधे उत्तर और दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप से हैं. दक्षिण एशिया और पश्चिम एशिया से भी मामले काफी संख्या में हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हम नए और खतरनाक चरण में हैं. महामारी को रोकने के लिए प्रतिबंधात्मक कदमों की अब भी आवश्यकता है. अनेक लोग घर में रहने से निराश हैं और देश अपने समाजों को खोलने के लिए उत्सुक हैं.’’

WHO ने कहा- तेजी से फैल रही है कोविड-19 महामारी, हम नए और खतरनाक चरण में-

टेड्रोस ने कहा कि वायरस अब भी ‘तेजी से फैल रहा है’ और फिज़िकल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने और हाथ धोने जैसे कदम अब भी महत्वपूर्ण हैं. उन्होंने कहा कि मृतक संख्या खास तौर पर शरणार्थियों में अधिक होगी, जिनमें से 80 प्रतिशत से अधिक विकासशाील देशों में रहते हैं.

पूरी दुनिया में 87 लाख से ज्यादा मामले

आपको बता दें कि कोरोना वायरस दुनियाभर में अपना प्रकोप दिखा रहा है. 19 जून को ही दुनियाभर में कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की संख्या 87 लाख के आंकड़े को पार गई है. जबकि वर्ल्डोमीटर के मुताबिक इस वायरस की चपेट में आने की वजह से पूरी दुनिया में अब तक 460,691 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

इन सब के बीच अच्छी खबर है ये है कि 45 लाख से ज्यादा कोरोना के मरीज़ ठीक भी हुए हैं. इस वक्त एक्टिव केस की बात करें तो पूरी दुनिया में 36 लाख 49 हज़ार 606 मरीज़ों का इलाज किया जा रहा है. हालांकि पिछले कुछ दिनों में दुनियाभर से कोरोना वायरस के मामले आने में वृद्धी दर्ज की गई है.

'साल के आखिर से पहले टीका आने की उम्मीद'
हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन की शीर्ष वैज्ञानिक डॉक्टर सौम्या स्वामीनाथन ने कोरोना वायरस का टीका आने को लेकर आशावादी बयान दिया. उन्होंने कहा कि संगठन इस साल के आखिर से पहले कोरोना वायरस का टीका उपलब्ध होने को लेकर आशावादी है.

भविष्य में इस घातक वायरस से बचाने वाले टीके के संदर्भ में उन्होंने कहा कि लगभग 10 उम्मीदवार मानव परीक्षण के चरण में हैं और इनमें से कम से कम तीन उम्मीदवार उस नए चरण में प्रवेश कर रहे हैं, जहां एक टीके का प्रभाव साबित होता है.

कारगर टीके को लेकर डब्ल्यूएचओ के प्रयास का उल्लेख करते हुए स्वामीनाथन ने कहा, "मुझे उम्मीद है. मैं आशान्वित हूं, लेकिन टीका विकसित करना एक बेहद जटील प्रक्रिया है और इसमें बहुत अधिक अनिश्चित्ता भी है. अच्छी बात यह है कि हमारे पास कई अलग-अलग उम्मीदवार और प्लेटफॉर्म हैं."

उन्होंने कहा, "अगर हम भाग्यशाली हैं, तो इस साल के अंत तक एक या दो कामयाब उम्मीदवार होंगे."