ALL ताजा खबरें राष्ट्रीय समाचार परिवर्तन चक्र स्पेशल शिक्षा समाचार दुनिया समाचार क्रिकेट समाचार मनोरंजन समाचार पॉलिटिक्स समाचार क्राइम समाचार साहित्य संग्रह
वैक्सीन आने के बाद भी लंबे समय तक रहेगा कोरोना, तब तक लड़ना होगा : वैज्ञानिक
August 1, 2020 • परिवर्तन चक्र

नई दिल्ली। कोरोना वायरस : महामारी के इस दौर में पूरी दुनिया को कोरोना की वैक्सीन ( Covid-19 Vaccine ) का सबसे ज्यादा इंतजार है। हालांकि, दुनिया में 21 से ज्यादा वैक्सीन का ट्रायल ( Coronavirus Vaccine Trial ) चल रहा है, जिनमें पांच वैक्सीन तीसरे यानी आखिरी चरण में हैं। ऐसे में उम्मीद है कि जल्द ही कोरोना का इलाज संभव होगा।

लेकिन, बड़ा सवाल है कि क्या वैक्सीन आने से कोरोना वायरस ( Coronavirus Update ) पूरी तरह खत्म हो जाएगा? इसको लेकर पुख्ता तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है। लेकिन, विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसा नहीं होगा। वैक्सीन आने के बाद भी हमें मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का पालन करना होगा। विशेषज्ञों के मुताबिक, कोरोना वायरस की वैक्सीन के आने के बाद भी शारीरिक दूरी और स्वच्छता का पालन करना होगा। साथ ही मास्क पहनना जरूरी होगा।

बेयलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन में वैक्सीन विकसित करने वाली विशेषज्ञ मारिया एलेना बोट्टाती का कहना है, वैक्सीन के आने का मतलब ये कतई नहीं है कि आप मास्क को भूल जाएं। ऐसा होने वाला नहीं है, क्योंकि लोग ये सोच कर नहीं बैठें कि वैक्सीन जादुई तरीके से वायरस को खत्म कर देगी। हमें एक बेहतर वैक्सीन बनाने की जरूरत है, लेकिन वायरस के खात्मे के लिए लंबा इंतजार करना होगा। साइंस इनसाइडर में की एक रिपोर्ट के अनुसार, ये कहना गलत होगा कि वैक्सीन सुरक्षा देने के लिए काफी होगी। कोरोना वायरस जिस तेजी से फैलता जा रहा है, उतनी ही तेजी से हमें वैक्सीन को भी लोगों तक पहुंचना होगा।

5 वैक्सीन अंतिम चरण में बता दें कि रूस, ब्रिटेन, अमेरिका, चीन और अन्य देश कोरोना की वैक्सीन को लेकर दावा कर रहे हैं। अब तक जो वैक्सीन बनी हैं, उनमें पांच वैक्सीन अंतिम चरण के ट्रायल में है। अंतिम चरण में अलग-अलग उम्र के लोगों पर वैक्सीन का प्रभाव देखा जाता है कि यह कितनी सुरक्षित और कारगर है। इनमें भारत में आईसीएमआर और भारत बायोटेक द्वारा निर्मित वैक्सीन COVAXIN और जायडस कैडिला की वैक्सीन भी ह्यूमन ट्रायल फेज में है।