ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
वाराणसी मंडल : औड़िहार-तरांव (12 किमी.) रेल खण्ड में नवनिर्मित दूसरी लाइन एवं विद्युतिकृत खण्ड का संरक्षा परीक्षण आज रेल संरक्षा आयुक्त, लखनऊ (पूर्वोत्तर परिक्षेत्र) मो. लतीफ़ खान द्वारा किया गया
October 12, 2020 • परिवर्तन चक्र

वाराणसी 12 अक्टूबर, 2020: रेलवे प्रशासन द्वारा यात्री सुविधा में उन्नयन एवं परिचालनिक सुगमता हेतु पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल के वाराणसी सिटी-छपरा रेल खण्ड पर चल रही दोहरीकरण परियोजना के अंतर्गत औड़िहार-तरांव (12 किमी.) रेल खण्ड में नवनिर्मित दूसरी लाइन एवं विद्युतिकृत खण्ड का संरक्षा परीक्षण आज सोमवार दिनांक-12.10.2020 को रेल संरक्षा आयुक्त, लखनऊ (पूर्वोत्तर परिक्षेत्र) मो. लतीफ़ खान द्वारा किया गया।

इस निरीक्षण में पूर्वोत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य प्रशासनिक अधिकारी/निर्माण श्री आर.के.यादव, प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर श्री ए.के.शुक्ला, मंडल रेल प्रबंधक श्री विजय कुमार पंजियार, उप मुख्य संरक्षा अधिकारी/सिगनल श्री बलबीर यादव एवं निर्माण संगठन के अधिकारीयों समेत वाराणसी मंडल के वरिष्ठ अधिकारी एवं पर्यवेक्षक उपस्थित थे। रेल संरक्षा आयुक्त अपने स्पेशल निरीक्षण यान से तरांव रेलवे स्टेशन पहुँचे और तरांव रेलवे स्टेशन पर दोहरी लाइन पर यातायात प्रबंधन हेतु गहन निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने 25000 वोल्ट 50 हर्ट्ज ए सी कर्षण पावर स्टेशन समेत विद्युतीकरण कार्यों, नए भवन, यात्री सुविधाओं, प्लेटफार्म लेंथ, पैदल उपरिगामी पुल, वीडियू स्टेशन पैनल, सी एच सी क्रैंक हैंडल, स्टेशन वर्किंग रूल, रिले रूम, पॉइन्ट क्रासिंग, सिगनल एवं साइटिंग बोर्ड आदि का गहन निरीक्षण करते हुए संरक्षा परखी।

इसके पश्चात मुख्य संरक्षा आयुक्त पुश ट्राली से तरांव-सैदपुर भीतरी रेल खण्ड पर 25000 वोल्ट 50 हर्ट्ज ए सी कर्षण लाइन फिटिंग्स, साइटिंग बोर्ड, ओवर हेड लाइन, पावर सब स्टेशन, समपार फाटकों, कर्वेचर, पूल पुलियाओं का निरीक्षण करते हुए औड़िहार स्टेशन पहुँचे दोनों ब्लाक सेक्शन के मध्य दोहरीकृत रेल खण्ड का स्टैंडर्ड मानकों के अनुसार नई लाइन फिटिंग्स और उसपर संस्थापित नये सिगनलो, टर्न आउट्स, बैलास्टिंग एवं पैकिंग, कर्वेचर पर पर्याप्त क्लियरेंस, पॉइंट्स एंड क्रासिंग, ओवर हेड लाइन, रेलवे ट्रैक लाइन फिटिंग्स, विद्युतिकृत कलर लाइट सिगनल, ओवर हेड लाइन फिटिंग्स, रिले रूम, वीडियू पैनल, क्रैंक हैंडिल, ब्लाक इंस्ट्रूमेंट, ब्लाक ओवरलैप, सिगनल ओवरलैप, fauling mark, पैदल उपरिगामी पुल, नए प्लेटफार्म एवं यात्रियों की सुरक्षा /संरक्षा आदि का निरिक्षण किया। इस दौरान उन्होंने इस खण्ड में स्तिथ सभी समपार फाटकों के बूम लॉक को दोहरीकृत रेल खंड के अनुरूप एवं विद्युतीकृत खण्ड के अनुरूप हाईट गेजों के संस्थापन को सुनिश्चित किया एवं इस खंड में पड़ने वाले तरांव, सैदपुर भीतरी एवं औड़िहार रेलवे स्टेशनों का भी दोहरीकरण सह 25000 वोल्ट 50 हर्ट्ज ए सी कर्षण द्वारा विद्युतीकरण मानकों के अनुरुप निरीक्षण किया और संरक्षा परखी। निरिक्षण के उपरांत रेल संरक्षा आयुक्त मोहम्मद लतीफ़ खान ने औड़िहार - तरांव के मध्य दोहरीकरण एवं 25000 वोल्ट 50 हर्ट्ज ए सी कर्षण द्वारा विद्युतीकरण कार्य के परिप्रेक्ष्य में विद्युत लोको चलित सी आर एस स्पेशल यान द्वारा सफल स्पीड ट्रायल किया। निरिक्षण स्पेशल ट्रैन औड़िहार स्टेशन से सायं 17:00 पर छूटी तथा सायं 17:17 बजे तरांव स्टेशन पर पहुंची।

ज्ञातव्य हो कि औड़िहार-छपरा के मध्य चल रही दोहरीकरण परियोजना के अंतर्गत औड़िहार-तरांव (12 किमी.) रेल खण्ड में नवनिर्मित दूसरी लाइन एवं विद्युतिकृत खण्ड का कार्य पूरा हो गया है जिसका लाभ इस खण्ड पर चलने वाली गाड़ियों को तेज और अबाध परिचालन के रूप में मिलेगा। अशोक कुमार/जन सम्पर्क अधिकारी, वाराणसी।