ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
सुधरे नहीं तो राम नाम सत्य होगा-लव जिहाद को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने दी चेतावनी
October 31, 2020 • परिवर्तन चक्र • उत्तर प्रदेश

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि "इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक आदेश दिया है कि शादी ब्याह के लिए धर्म परिवर्तन नहीं किया जाना चाहिए, इसे मान्यता नहीं दी जानी चाहिए।"

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ‘लव जिहाद’ के खिलाफ सख्त रुख अपनाने के संकेत दिए हैं। अपनी एक जनसभा में इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक फैसले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हम लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाएंगे। उन्होंने कहा कि जो लोग अपनी पहचान छिपाकर लव जिहाद करते हैं, उन्हें मेरी चेतावनी है कि अब उनकी ‘राम नाम सत्य है कि यात्रा’ निकलने वाली है।

जौनपुर में विधानसभा उपचुनाव के लिए चुनाव प्रचार करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि “इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक आदेश दिया है कि शादी ब्याह के लिए धर्म परिवर्तन नहीं किया जाना चाहिए, इसे मान्यता नहीं दी जानी चाहिए। इसलिए हमारी सरकार भी यह निर्णय ले रही है कि हम लव जिहाद को सख्ती से रोकने का काम करेंगे। एक प्रभावी कानून बनाएंगे। जो लोग नाम छिपाकर, पहचान छिपाकर बहन बेटियों की इज्जत के साथ खिलवाड़ करते हैं, उनको पहले से मेरी चेतावनी है कि अगर वह सुधरे नहीं तो अब राम नाम सत्य की यात्रा निकलने वाली है।”

लव जिहाद शब्द का इस्तेमाल दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा किया जाता है, जिसमें मुस्लिम व्यक्ति और हिंदू महिला के रिश्ते को निशाना बनाया जाता है। इसे महिला के जबरन धर्म परिवर्तन के तौर पर देखा जाता है।

बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा है कि सिर्फ शादी के लिए धर्म परिवर्तन करना वैध नहीं है। अपने संबोधन के दौरान योगी आदित्यनाथ ने मिशन शक्ति का भी उल्लेख किया और कहा कि मिशन शक्ति के माध्यम से हम बेटी और बहन को सुरक्षा की गारंटी देंगे।

योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस के संक्रमण काल में सरकार द्वारा किए गए कामों का भी उल्लेख किया। सीएम ने कहा कि बीजेपी में ही कार्यकर्ता को सीएम व प्रधानमंत्री बनने का मौका मिलता है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार की उपलब्धियों का भी जिक्र किया।

बता दें कि आगामी 3 नवंबर को यूपी की 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। यूपी विधानसभा चुनाव को देखते हुए यह उपचुनाव अहम माने जा रहे हैं। हालांकि इन उपचुनाव से बड़े नेताओं ने दूरी बनायी हुई है लेकिन योगी आदित्यनाथ इनके लिए खूब मेहनत कर रहे हैं।

साभार- जनसत्ता