ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
सीडीओ विपिन कुमार जैन ने दो पंचायत सचिवों को सस्पेंड करने के दिए निर्देश
November 5, 2020 • परिवर्तन चक्र • बलिया समाचार

गड़वार ब्लॉक के औचक निरीक्षण में शौचालय मद में अवशेष धनराशि मिलने पर की कार्रवाई

बीडीओ ने नहीं किया किसी गाँव का निरीक्षण, कई लापरवाही सामने आने पर कठोर चेतावनी निर्गत

बलिया: मुख्य विकास अधिकारी विपिन कुमार जैन ने गुरुवार को विकास खंड गड़वार का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान रतसर कला व बहादुरपुर कारी में शौचालय मद में लाखों रुपए की धनराशि अवशेष मिलने पर वहां के पंचायत सचिवों को निलंबित करने का आदेश मौके पर मौजूद डीपीआरओ को दिया। खण्ड विकास अधिकारी की भी ढेर सारी लापरवाही व कार्य में रुचि नहीं लेने की बात सामने आने पर कठोर चेतावनी निर्गत करने की बात कही।

ब्लॉक पर पहुंचते ही सीडीओ सीधे ब्लॉक सभागार में पहुंच गए, जहां साप्ताहिक समीक्षा बैठक हो रही थी। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन के ग्राम निधि-6 की अवशेष धनराशि के संबंध में समीक्षा शुरू कर दी। पाया कि रतसर कला में 26.42 लाख तथा बहादुरपुर कारी में 12.65 लाख की धनराशि अवशेष पड़ी है। जबकि इस धनराशि को जिला मुख्यालय वापस कर देना था। इस पर सीडीओ ने नाराजगी जताई और रतसर कला के सचिव देवानंद गिरि व बहादुरपुर कारी के सचिव समीर राय को निलंबित करने का आदेश दिया।  

बीडीओ से पूछताछ की तो पाया कि उनके द्वारा न तो शौचालय व आवास योजना के बाबत किसी गाँव का निरीक्षण नहीं किया गया है। शौचालय निर्माण सम्बन्धी डेटा के बारे बीडीओ को कोई जानकारी भी नहीं थी। बीडीओ के क्या दायित्व हैं इसके बारे में पूछा तो बीडीओ को इसको भी ठोस जानकारी नहीं थी। इस तरह कई लापरवाही सामने आने पर सीडीओ ने बीडीओ को कठोर कार्रवाई निर्गत करने की बात कही।

लेखाकार को विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि

सीडीओ ने गड़वार ब्लॉक के निरीक्षण में पाया कि कई जीपीएफ़ पासबुक और ग्रांट रजिस्टर अपडेट नहीं थे। कार्यालय में विभिन्न पत्रावली व अभिलेखों का रखरखाव एकदम सही नहीं था। कई मामलों में वित्तीय नियमों का ख्याल नहीं रखे जाने की भी मामला सामने आया। इस पर नाराजगी जताते हुए सीडीओ ने लेखाकार विनोद कुमार सिंह को 'विशेष प्रतिकूल प्रविष्टि' निर्गत करने के निर्देश दिए।

बीडीओ को पता नहीं और 'स्टीकर पर 3.20 लाख का हो गया भुगतान

निरीक्षण के दौरान एक चौंकाने वाला मामला सामने आया कि स्वच्छ भारत मिशन से संबंधित स्टीकर बनाने पर ब्लॉक से 3 लाख 20 हजार का भुगतान हो गया है, लेकिन खंड विकास अधिकारी को इसकी जानकारी ही नहीं है। हालांकि यह भुगतान कई किश्तों में हुआ है। इस प्रकार कार्य में रूचि नहीं लेने पर सीडीओ ने बीडीओ व अन्य लापरवाह कर्मियों की जमकर फटकार लगाई।