ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
सरदार पटेल के जीवन दर्शन को आत्मसात करने का लें संकल्प : केशव प्रसाद मौर्य
October 31, 2020 • परिवर्तन चक्र

-सरदार पटेल का जीवन दर्शन आज भी प्रासंगिक 

-सरदार पटेल -राष्ट्रीय एकता की अप्रतिम मिशाल  

लखनऊ: 31 अक्टूबर 2020: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज लखनऊ स्थित सरकारी आवास पर राष्ट्रीय एकता के प्रतीक एवं आधुनिक अखण्ड भारत के निर्माता, भारत रत्न, लौह पुरुष ,सरदार वल्लभभाई पटेल जी की जयन्ती के अवसर पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया l

इस अवसर उन्होंने कहा कि विविधता को एकता के सूत्र में पिरोते हुए सरदार पटेल ने आधुनिक अखण्ड भारत का स्वरूप दिया। उपमुख्यमंत्री ने सरदार पटेल को अपनी आत्मिक श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि सरदार पटेल का जीवन दर्शन आज भी प्रासंगिक है और हम सबके लिए प्रेरणास्रोत है ।562 रियासतों को एकता के सूत्र में बांधकर अखंड भारत के निर्माण में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। देशसेवा के प्रति उनके द्वारा किए गए योगदान के लिए आज पूरा राष्ट्र उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त कर रहा है और उनके योगदान को स्मरण ही नहीं कर रहा है बल्कि भारत के प्रधानमंत्री के नेतृत्व में उनकी स्मृतियों को संजोए रखने के उल्लेखनीय कार्य भी किए जा रहे हैं। स्वतंत्रता के बाद भी वह देश की एकता के लिए हमेशा योगदान देते रहे।

श्री मौर्यने कहा कि वर्तमान सरकार, सरदार पटेल के सपनों को साकार करने का कार्य कर रही है ।नर्मदा में 182 मीटर ऊंची प्रतिमा स्थापित कर राष्ट्र ने उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त की है और वहां पर अनेकों प्रोजेक्ट चलाकर जहां एक तरफ लोगों को रोजगार देने का प्रयास किया जा रहा है, वहीं पर्यटन के दृष्टिकोण से ही उपयोगी बनाया जाने का कार्य चल रहा है। आज के दिन को "राष्ट्रीय एकता दिवस" के रूप में मनाया जाता है । कहा कि हम सबको सरदार पटेल की जयंती के अवसर पर राष्ट्र की एकता और अखंडता को मजबूत करने तथा राष्ट्रीय एकता की भावना को बलवती बनाने का संकल्प लेना चाहिए और सरदार पटेल के जीवन दर्शन से न केवल सीख लेनी चाहिए बल्कि उनके जीवन दर्शन को आत्मसात भी करना चाहिए।

महेन्द्र कुमार 

अ० जि० सूचना अधिकारी