ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
सपा नेता ने कोरोना के डर से पुल से कूदकर की आत्महत्या
August 31, 2020 • परिवर्तन चक्र

बरेली। बरेली से दुखद खबर सामने आ रही है। कोरोना पॉजिटिव सपा नेता ने बरेली के मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड से भागकर भोजीपुरा ओवरब्रिज से कूदकर आत्महत्या कर ली। कूदने से पहले उन्होंने अपने भाई को फोन किया। और कहा, ‘कोरोना बढ़ता जा रहा है, लग रहा है कि मैं बचूंगा नहीं।’ भोजीपुरा पुलिस ने रात में ही शव को ओवरब्रिज के नीचे से बरामद किया। कोविड मरीज होने की वजह से उनका पोस्टमार्टम नहीं कराया गया।

प्रेमनगर में कोहाड़ापीर के रहने वाले रमन जौहरी (50) की 24 अगस्त को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। 25 अगस्त को उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। उनकी हालत गंभीर हो रही थी। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, उन्हें ऑक्सीजन लगी थी। रमन जौहरी के बड़े भाई राजेन्द्र बहादुर सक्सेना ने बताया कि शनिवार शाम को अचानक अस्पताल से फोन आया। बताया कि उनके भाई रमन अपने बेड पर नहीं हैं। उनकी तलाश कर रहे हैं। इसके बाद भी काफी देर तक पता न चलने पर परिजन अस्पताल पहुंचे और स्टाफ से उनके गायब होने की मालुमात की।

सीसीटीवी फुटेज चेक करने पर पता चला कि रमन अस्पताल के दो नंबर गेट से भोजीपुरा थाने की तरफ निकले हैं। इसके बाद परिजन भोजीपुरा थाने गये। वहां उनकी गुमशुदगी दर्ज कराई। आधी रात के बाद पुलिस को पुल के नीचे एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़े होने की सूचना मिली, जिसे उन्होंने जिला अस्पताल मोर्चरी भिजवा दिया है। पुलिस ने बताया कि शव को उठाते समय उन्होंने वीडियो बनाई थी। इसके आधार पर रमन जौहरी की परिवार वालों ने पहचान की और जिला अस्पताल पहुंचे। इंस्पेक्टर भोजीपुरा मनोज त्यागी ने बताया कि रात करीब आठ बजे वह गायब हुये। पौने दो बजे उनकी गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी।

भाई को फोन कर लगा दी पुल से छलांग-

पुलिस सूत्रों के मुताबिक रमन जौहरी ने पुल से कूदने से पहले अपने भाई को फोन किया। कहा कि कोरोना की वजह से उनकी हालत बिगड़ रही है। वह बचेंगे नहीं। इसके बाद रमन पुल से कूद गये। मृतक रमन जौहरी के बड़े भाई राजेन्द्र बहादुर का कहना है कि सड़क हादसे में मौत की बात भी सामने आई है। पुलिस ने उनका पोस्टमार्टम नहीं कराया है। इसके कारण मौत का सही कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। परिजनों ने अस्पताल स्टाफ पर भी लापरवाही का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि स्टाफ के होते हुये कोरोना मरीज अपने बेड से उठकर अस्पताल के बाहर कैसे चला गया। रविवार दोपहर लगभग 12 बजे रमन जौहरी के परिवार वालों ने सिटी शमशान भूमि पर उनका अंतिम संस्कार कर दिया।