ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
सब मिशन ऑन एग्रीकल्चरल मैकेनाइजेशन योजना का लाभ उठायें : इंद्राज
July 21, 2020 • परिवर्तन चक्र

डीबीटी के माध्यम से अनुदान का होगा भुगतान

बलिया। उप कृषि निदेशक इंद्राज ने बताया है कि सब मिशन ऑन एग्रीकल्चरल मैकेनाइजेशन योजनातर्गत जनपद हेतु मानव चलित/पशु चालित कृषि यंत्र में विकल्प साईथ, ड्रम सीडर, हस्त चालित स्प्रेयर, पशु चालित कृषि यंत्र तथा शक्ति चालित यंत्र कृषि यंत्र में ट्रैक्टर, लेजर लैंड लेवलर, पोस्ट होल डिगर, पोटैटो प्लांटर, पोटैटो डिगरा, हैरो रिजरा, पावर स्प्रेयर, मल्टीक्रॉप थ्रेशर, पावर ऑपरेटेड चेप कटर, स्ट्रारीपर, ब्रस कटर, मिनी राईस मिल, मिनी दाल मिल, आयल मिल विद फिल्टर प्रेस, रोटावेटर, ट्रैक्टर ऑपरेटेड स्प्रेयर, पावर टिलर, कंबाइन हार्वेस्टर, राईस ट्रांस प्लांटर एवं कस्टम हायरिंग सेंटर का लक्ष्य प्राप्त है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु कृषि विभाग की वेबसाइट- www.upagriculture.com पर ऑनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य है।

इस योजना में दस हजार तक के अनुदान वाले कृषि यंत्रों के लिए शून्य तथा दस हजार से अधिक तथा एक लाख तक की अनुदान वाले कृषि यंत्र हेतु रुपये दो हजार पांच सौ और एक लाख से अधिक अनुदान वाले कृषि यंत्रों हेतु रुपये पांच हजार तक जमानत धनराशि का प्रावधान है। जिसमें अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, लघु सीमांत एवं महिला कृषकों को 50 प्रतिशत तथा अन्य श्रेणी के कृषकों को 40 प्रतिशत कृषि यंत्रों पर देय अनुदान है। 

जमानत धनराशि का चालान 45 दिन के अंदर विभागीय पोर्टल पर अपलोड करने होंगे

उन्होंने कहा कि अनुदान प्राप्त करने के लिए विभागीय पोर्टल पर पंजीकरण आवश्यक है। जिन किसानों का पूर्व में पंजीकरण नहीं है वह अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छायाप्रति, मोबाइल नंबर और खतौनी के साथ अपने विकासखंड के राजकीय कृषि बीज भंडार प्रभारी अथवा उप कृषि निदेशक कार्यालय में सम्पर्क कर सकते हैं। पंजीकृत किसान द्वारा कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए विभागीय वेबसाइट पर दिए गए लिंक यंत्र पर अनुदान हेतु पर क्लिक करने के पश्चात अपना आधार नंबर और मोबाइल नंबर डालने पर ओटीपी मोबाइल नंबर पर आएगा, और ओटीपी सत्यापन के उपरांत टोकन जनरेट होगा, तथा बैंक में जमा की जाने वाली धनराशि का चालान फार्म प्राप्त होगा। चालान फार्म में दी गई अवधि के अंदर जमानत धनराशि अपने नजदीकी यूनियन बैंक की किसी भी शाखा में जमा करनी होगी।

जमानत धनराशि का चालान जमा करने के 45 दिन के अंदर कृषि यंत्र क्रय कर के बिल एवं आवश्यक अभिलेख विभागीय पोर्टल पर अपलोड करने होंगे, लाभार्थी द्वारा क्रय किए गए यंत्रों के सत्यापन आदि के उपरांत डीबीटी के माध्यम से नियमानुसार अनुदान का भुगतान किया जाएगा।