ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
रिविलगंज में सड़क दुर्घटना में मौत के शिकार श्वेता के परिजनों को मिलेगा 50 लाख का मुआवजा
September 8, 2020 • परिवर्तन चक्र • देश

छपरा। मांझी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रखंड मूल्यांकन अनुश्रवण पदाधिकारी  श्वेता  कुुमारी राय के परिजनों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 50 लाख रूपये का मुआवजा मिलेगा । इसकी प्रक्रिया स्वास्थ्य विभाग ने शुरू कर दी है। सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा ने सरकार को इसकी प्राथमिक सूचना भेज दी है और विस्तृत प्रतिवेदन तैयार कर भेजने का निर्देश दिया है। इसके लिए मांझी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से रिपोर्ट मांगी गई है।

इसके अलावा सोनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित डाटा इंट्री ऑपरेटर गोरखनाथ सिंह के आश्रितों को भी 50 लाख रुपए का मुआवजा दिया जायेगा। इन दोनों पदाधिकारियों- कर्मचारियों की मौत कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम और बचाव के लिए ड्यूटी के दौरान हुई है। बताते चलें कि जिले के छपरा – मांझी नेशनल हाईवे 19 रिविलगंज थाना क्षेत्र के सेमरिया स्थित आर के हाई स्कूल के पास सङक दुर्घटना में मौत हो गयी। वह मांझी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रखंड मूल्यांकन सह अनुश्रवण पदाधिकारी थी।

वह कोविड-19 के ड्यूटी में लगाई गई थी और छपरा जिला मुख्यालय ऑफिशियल काम निपटा कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मांझी लौट रही थी। इसी दौरान मांझी से छपरा की ओर आ रही अनियंत्रित ट्रक ने रौंद डाला। वह स्कूटी से छपरा से मांझी लौट रही थी। वह छपरा शहर के भगवान बाजार थाना क्षेत्र के गुदरी राय के चौक निवासी सुरेंद्र राय की पुत्री 25 वर्षीय श्वेता कुमारी राय थी। सड़क दुर्घटना में घायल होने के बाद रिविलगंज थाने की पुलिस उसे रिविलगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया । पुलिस ने ट्रक तथा स्कूटी को जब कर लिया है। इस मामले में मृतका के भाई राज अभिषेक के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। घटना की सूचना रिविलगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के कर्मियों ने मांझी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को दी।

रिविलगंज थाने की पुलिस ने उसके पास मिले कागजात के आधार पर रिश्तेदारों को सूचना दी, जिसके बाद परिजनों को घटना की जानकारी हुई। रिविलगंज थाने की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया तथा परिजनों को सौंप दिया। इस घटना की सूचना मिलने के बाद पोस्टमार्टम हाउस पर रिश्तेदारों तथा परिजनों कि काफी संख्या में भीड़ जमा हो गयी। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी काफी संख्या में जुट गये। जिला स्वास्थ्य समिति में सिविल सर्जन डा माधवेश्वर झा की अध्यक्षता में शोक सभा का आयोजन किया गया और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई और 2 मिनट का मौन रखा गया।

सिविल सर्जन ने बताया कि कोविड-19 के ड्यूटी के दौरान सड़क दुर्घटना में माझी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के बीएमएन की मौत हुई है, जबकि सोनपुर रेफरल अस्पताल के डाटा इंट्री ऑपरेटर गोरखनाथ सिंह की असामयिक मौत हुई है। दोनों कर्मियों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 50 -50 लाख रुपये मुआवजा दिलाने के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति को सूचना दे दी गई है और इससे संबंधित आवश्यक रिपोर्ट जल्द ही सरकार को भेजी जाएगी। परिजनों को सरकारी प्रावधानों के अनुसार 50 -50 लाख रुपए का मुआवजा दिलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि श्वेता कुमारी राय अपने ड्यूटी के प्रति पूरी तरह समर्पित व निष्ठावान रहती थी । काफी मिलनसार और व्यवहार कुशल क्षमतावान पदाधिकारी थी।

इसके लिए उन्हें हमेशा याद रखा जायेगा। इस मौके पर जिला मलेरिया पदाधिकारी डॉ दिलीप कुमार सिंह, डीपीसी रमेश चंद्र कुमार, डीसीएम विजेंद्र कुमार सिंह, डीएमएंडई भानु शर्मा, डीपीएम अरविंद कुमार, गौरव कुमार, उपेंद्र सिंह के अलावा काफी संख्या में स्वास्थ्य कर्मियों ने भाग लिया। वह अंतरराष्ट्रीय स्वयंसेवी संस्था लायंस क्लब स्थानीय युवा इकाई लियो क्लब ऑफ छपरा फेमिना की पूर्व अध्यक्ष थी।

इस घटना की सूचना पाकर लायंस क्लब तथा लियो क्लब के सदस्य भी वहां पहुंचे थे। उनका अंतिम संस्कार रिविलगंज के सेमरिया स्थित श्मशान घाट पर सरयू नदी के तट पर किया गया, जहां परिजनों तथा रिश्तेदारों और स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों, लायंस- लियो क्लब के सदस्यों ने नम आंखों से अंतिम विदाई दी।