ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
रेल राज्य मंत्री, भारत सरकार श्री सुरेश सी. अंगड़ी ने आज वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे की समीक्षा बैठक की
September 9, 2020 • परिवर्तन चक्र

गोरखपुर 09 सितम्बर, 2020। रेल राज्य मंत्री, भारत सरकार श्री सुरेश सी. अंगड़ी ने 09 सितम्बर, 2020 को रेल भवन, नई दिल्ली से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे की समीक्षा बैठक की। बैठक में वर्चुअल रूप से महाप्रबन्धक श्री एल.सी.त्रिवेदी, अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल, प्रमुख विभागाध्यक्ष एवं वरिष्ठ रेल अधिकारी उपस्थित थे।  
रेल राज्य मंत्री श्री सुरेश सी.अंगड़ी ने पूर्वोत्तर रेलवे पर किये गये विकास कार्यों, योजनाओं, व्यापारियों एवं उद्योगों को दी जा रही सुविधायें, माल एवं पार्सल भाड़ा से होने वाली आय आदि पर विस्तृत चर्चा करते हुये कहा कि रेलवे की आय बढ़ाने हेतु व्यापक स्तर पर प्रयास किये जांय तथा रेलवे द्वारा दी जा रही रियायतों से व्यापारियों एवं उद्यमियों को अवगत कराये जांय। उन्होंने रेलवे को आत्मनिर्भर बनने के लक्ष्य को पूर्ण करने के लिये पार्सल एवं मालभाड़ा पिछले वर्ष की तुलना में दूना करने का निर्देश दिया। इसके लिये व्यापारियों एवं उद्यमियों को सुविधायें देने के साथ उनसे सम्पर्क स्थापित कर माल परिवहन को रेलवे पर लाने का सुझाव दिया। बैठक के उपरान्त रेल राज्य मंत्री श्री सुरेश सी. अंगड़ी ने पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा किये जा रहे कार्यों एवं आय बढ़ाने हेतु किये जा रहे प्रयासों की प्रशंसा की। 

महाप्रबन्धक, पूर्वोत्तर रेलवे श्री एल.सी.त्रिवेदी ने पूर्वोत्तर रेलवे पर किये जा रहे कार्यों, स्क्रैप डिस्पोजल, पार्सल एवं मालभाड़ा से आय बढ़ाने पर पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा किये गये विशेष प्रयासों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर स्क्रैप की बिक्री हेतु मुहिम चलाई गई है। इसमें गोरखपुर में स्क्रैप का सेल 90 प्रतिशत बढ़ा है। जो पिछले वर्ष की तुलना में लगभग दोगुना है। महाप्रबन्धक ने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर विद्युतीकरण का कार्य पूरी तेजी से किया जा रहा है। जिससे डीजल खपत में लगभग 85 प्रतिशत की कमी आयी है। इससे ईंधन खर्च में भारी बचत हुई है। अनुपयोगी आई.सी.एफ. कोचों को एन.एम.जी. वैगनों में बदलने पर तेजी से काम किया जा रहा है। सितम्बर तक 95 आई.सी.एफ.कोचों एन.एम.जी.वैगनों में बदलने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें से लगभग 80 कोच बना भी लिये गये हैं। जिनसे आटो मोबाइल लोडिंग का काम किया जा रहा है।

जुलाई से पूर्वोत्तर रेलवे की लोडिंग में निरन्तर सुधार हुआ है तथा इन्क्रीमेंटल लोडिंग में वृद्धि के क्षेत्र में पूर्वोत्तर रेलवे सितम्बर माह के प्रथम सप्ताह में भारतीय रेल पर प्रथम स्थान पर है। पूर्वोत्तर रेलवे का इज्जतनगर मण्डल आटो मोबाइल लोडिंग के क्षेत्र अच्छा कार्य कर रहा है। टाटा ऐस मिनी ट्रकों को पहली बार रेल के माध्यम से बंग्लादेश को निर्यात किया गया। इस अन्तर्राष्ट्रीय यातायात के सफलतापूर्वक निस्तारण से अब तक तीन रेल इज्जतनगर मण्डल के हल्दी रोड स्टेशन से बंग्लादेश को भेजा गया। लखनऊ मण्डल में सूगर की अच्छी लोडिंग की जा रही है तथा वाराणसी मण्डल में भी लोडिंग के क्षेत्र में काफी सुधार हुआ है। पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा बंग्लादेश के लिये गेहूँ एवं खली का भी निर्यात किया जा रहा है।

इज्जतनगर मण्डल से 119 रेक लोड किये गये हैं। श्री त्रिवेदी ने कहा कि पहले नेस्ले एवं डाबर जैसी  एफ.एम.सी.जी. प्रोडक्ट का परिवहन रेलवे पर नही आता था। परन्तु अब पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा बनाये गये ‘रेलवे बिजनेस डेवलेपमेंट यूनिट‘ ने अच्छा कार्य करते हुये इन कम्पनियों को भी रेलवे पर लाने का कार्य किया है। इज्जतनगर मण्डल द्वारा 15 रेक आटोमोबाइल के लोड किये गये हैं तथा सूगर के मिनी रेक की लोडिंग से रू0 1-5 करोड़ की आय हुई है। वाराणसी मण्डल द्वारा 42 रेक लोड किये गये, जिनसे रू0 4-5 करोड़ की आय हुई तथा 02 रेक बंग्लादेष को भेजकर रू0 60 लाख की कमाई की गई। महाप्रबन्धक ने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर वाणिज्य निरीक्षकों की अनेकों टीम बनाई गई है जो जगह-जगह जाकर रेलवे पर ट्रैफिक लाने का कार्य कर रहे हैं, जिनके अच्छे नतीजे आ रहे हैं। ट्रेन के द्वारा हम डोमेस्टिक के साथ-साथ इन्टरनेशनल फ्रेट भी ले रहे हैं। 

लोडिंग/अनलोंडिंग को मैकेनाइज्ड किया जा रहा है] जिससे कम समय में ज्यादा कार्य होता है। नौतनवा में मैकेनाइज्ड अनलोडिंग आरम्भ कर दी गई है। महाप्रबन्धक ने कहा कि ‘‘कस्टमर इज द किंग‘‘ को ध्यान में रखते हुये मालगोदामों पर व्यापारियों एवं श्रमिकों हेतु विश्रामकक्ष सहित तमाम सुविधायें दी जा रही हैं। तकनीक का उपयोग करते हुये कस्टमर्स, लोडर्स एवं चैम्बर आफ कामर्स के लोगों से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से साधने का प्रयास किया जा रहा है। वाराणसी मण्डल के गुड्स शेड में एयरपोर्ट की तर्ज पर लाइटिंग दी गई है तथा व्यापारियों को सूचनायें उपलब्ध कराने हेतु जगह-जगह पर रेलवे द्वारा दी गई सुविधाओं, रियायतों व अन्य सूचनाओं के पोस्टर लगाये गये हैं। नये गुड्स शेड डेवलेपमेंट का कार्य प्रगति पर है। 

अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल ने समीक्षा बैठक में पूर्वोत्तर रेलवे पर आय बढ़ाने हेतु किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी तथा उन्होंने यह आश्वासन दिया कि इस हेतु आगे भी प्रयास जारी रहेंगे।