ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
पुराने पेड़ बनेंगे विरासत वृक्ष, होगा उनका संरक्षण : एसपी शाही
August 28, 2020 • परिवर्तन चक्र

शासन के निर्देशानुसार गांवों व नगरीय निकायों में चयनित होंगे विरासत वृक्ष

तहसील व ब्लाक के अधिकारियों के साथ बैठक कर दी मानक की जानकारी

बलिया: सभी ग्राम पंचायत और नगरीय निकायों में विरासत वृक्ष का चयन किया जाएगा। जिलाधिकारी एसपी शाही ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में तहसील और ब्लाक के अधिकारियों के साथ बैठक कर विरासत वृक्ष के चयन से संबंधित मानक की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विरासत वृक्ष घोषित होने के बाद उनको न तो काटा जाएगा और ना ही हटाया जाएगा, जब तक कि वह प्राकृतिक रूप से सूख या गिर ना जाए।

उन्होंने कहा कि मानक के अनुसार मिलने वाले वृक्षों की सूचना सभी ग्राम प्रधान डीपीआरओ के माध्यम से तथा नगरीय क्षेत्र के ईओ जिलाधिकारी के माध्यम से डीएफओ के यहां भेजेंगे। उन्होंने सभी बीडीओ व ईओ से यह कार्यवाही जल्द कर लेने को कहा। डीएफओ द्वारा उन वृक्षों को विरासत वृक्ष के रूप में घोषित करने की संस्तुति सहित प्रस्ताव उप्र राज्य जैव विविधता बोर्ड, लखनऊ के सचिव को भेजा जाएगा। राजकीय विभागों/शिक्षण संस्थान के परिसर तथा उनके नियंत्रण में आने वाली भूमि पर चयनित वृक्षों की सूचना सम्बन्धित द्वारा दिया जाएगा। राज्य जैव विविधता बोर्ड से अनुमोदन प्राप्त होने के बाद ऐसे वृक्ष विरासत वृक्ष घोषित हो जाएंगे। उसके बाद इन वृक्षों के संरक्षण के लिए बजट का प्रावधान होगा। बैठक में अधिकारियों ने कुछ ऐतिहासिक व धार्मिक परंपरा से जुड़े वृक्षों की जानकारी भी दी।  

यह हैं विरासत वृक्ष के चयन के मानक

बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि विरासत वृक्ष के चयन के लिए शासन स्तर से। मानक निर्धारित है। उसके अनुसार ऐसे वृक्ष, जो चार पीढ़ी या 100 वर्ष से अधिक का हो। पौराणिक, ऐतिहासिक अवसरों तथा धार्मिक परंपराओं या महत्वपूर्ण व्यक्तियों से जुड़ा हो। सदियों से पवित्र वृक्ष के रूप में पूजा की जाती हो। विलुप्त हो रही प्रजाति का वृक्ष हो। भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण संस्थान द्वारा संकटग्रस्त प्रजाति में दर्शाई गई हो। ऐसे वृक्ष  सार्वजनिक भूमि पर होना चाहिए और उसमें भूमि सम्बन्धी कोई विवाद ना हो। इसमें एक भी मानक पूर्ण होने पर उसे विरासत वृक्ष के रूप में चयन करने की प्रक्रिया की जा सकेगी। बैठक में एडीएम रामआसरे, एसडीएम बेल्थरा सन्त कुमार, कृषि अधिकारी विकेश कुमार समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।