ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
पोस्ट आफिश की 7 सुपरहिट स्कीम निवेश पर बड़ा बैंक बैलेंस तैयार होगा, आपको कई लाभ मिलेंगे
October 27, 2020 • परिवर्तन चक्र • देश

डाकघर की योजनाएँ : कोरोना संकट के बीच में, हर कोई अपने पैसे को ऐसी जगह निवेश करना चाहता है जहाँ उसे अच्छे ब्याज के साथ-साथ सुरक्षा की गारंटी भी दी जा सके।

डाकघर की योजनाएँ :

कोरोना संकट के बीच में, हर कोई अपने पैसे को ऐसी जगह निवेश करना चाहता है जहाँ उसे अच्छे ब्याज के साथ-साथ सुरक्षा की गारंटी भी दी जा सके। अगर आप भी ऐसा कोई विकल्प देख रहे हैं, तो पोस्ट ऑफिस आपके लिए सबसे अच्छा है। इस समय डाकघर में ग्राहकों के लिए कई विशेष योजनाएं हैं, जिनमें अच्छा ब्याज प्राप्त होता है।

डाकघर की खासियत यह है कि इसमें आपके पास बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए अलग-अलग योजनाएँ हैं। आइए जानते हैं ऐसी ही 7 सुपरहिट योजनाएं। इन योजनाओं की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इनमें से कुछ योजनाओं में धारा 80 सी के तहत कर छूट का लाभ भी मिलता है।

डाकघर राष्ट्रीय बचत पत्र :

यह डाकघर निवेश योजना काफी लोकप्रिय है। वर्तमान में, पोस्ट ऑफिस नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) में निवेश पर सालाना 6.8% ब्याज मिलता है। इसमें वार्षिक आधार पर ब्याज की गणना की जाती है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में जमा राशि को आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर छूट मिलती है। आप इस योजना में 5 साल के लिए निवेश कर सकते हैं।

डाकघर सावधि जमा (एफडी)

पोस्ट ऑफिस फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) में आप एक निश्चित अवधि के लिए एकमुश्त निवेश कर सकते हैं। एक से पांच साल के लिए पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट में निवेश करने की सुविधा है। इसमें आप फिक्स्ड रिटर्न और इंटरेस्ट पेमेंट का फायदा उठाते हैं। फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) खाते चार परिपक्वता अवधि के लिए खोले जा सकते हैं – एक साल, दो साल, तीन साल और पांच साल। इस योजना में आप आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 सी के तहत कर छूट का लाभ उठा सकते हैं।

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली :

एनपीएस एक रिटायरमेंट प्लान है। इसकी शुरुआत केंद्र सरकार ने की थी। आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत, कोई भी 1.5 लाख रुपये तक की छूट प्राप्त कर सकता है। 6 अलग-अलग फंड में निवेश करने की सुविधा है। निवेश के लिए कोई ऊपरी सीमा नहीं है। इस सरकारी योजना में आप 500 रुपये का निवेश भी कर सकते हैं। इस योजना के तहत, कर्मचारी को सेवानिवृत्ति के समय एकमुश्त राशि मिलती है।

सुकन्या समृद्धि योजना :

सुकन्या समृद्धि योजना आपकी बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने का सबसे अच्छा विकल्प है। इस योजना में आपको वर्तमान में 7.6 प्रतिशत रिटर्न मिल रहा है। यह आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत 1.5 रुपये तक के निवेश पर कर कटौती का लाभ भी देता है।

किसान विकास पत्र :

यह छोटे पैमाने पर निवेश के लिए एक अच्छा विकल्प है। इस बचत योजना पर अब 6.9 प्रतिशत ब्याज दिया जा रहा है। आपको बता दें कि इसमें रिटर्न बेहतर होगा लेकिन इस पर कोई टैक्स छूट नहीं है। इसके साथ, पहले 113 महीनों में परिपक्व किया जाता था, जिसे अब बदलकर 124 महीने कर दिया गया है। किसान विकास पत्र में न्यूनतम 1000 रुपये जमा किए जा सकते हैं। साथ ही, अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना :

डाकघर वरिष्ठ नागरिकों को विशेष सुविधा भी प्रदान करता है। इस योजना के तहत, ब्याज दर 7.4 प्रतिशत है। यह योजना 60 या उससे अधिक उम्र के लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की गई थी। इस योजना के तहत पांच साल के लिए निवेश किया जाता है। इसमें आप न्यूनतम एक हजार रुपये जमा कर सकते हैं और अधिकतम 15 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं। सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत निवेश पर टैक्स में छूट मिलती है।

पीपीएफ :

डाकघर पीपीएफ योजना में निवेश करना सबसे सुरक्षित माना जाता है। पीपीएफ एक 15-वर्षीय दीर्घकालिक निवेश योजना है, जो वर्तमान में 7.1 प्रतिशत की वार्षिक चक्रवृद्धि ब्याज देती है। इस योजना में शामिल होने के लिए कोई न्यूनतम या अधिकतम आयु सीमा नहीं है। आप पीपीएफ में 500 रुपये से भी निवेश शुरू कर सकते हैं। इसमें अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक की वार्षिक राशि का निवेश किया जा सकता है। इस योजना के तहत, पीपीएफ में निवेश और उस पर ब्याज आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर मुक्त है।