ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
पूर्वोत्तर रेलवे : ’’उत्कृष्ट रेल कोच’’ योजना के तहत कोचों को आधुनिक स्वरूप किया गया प्रदान
July 29, 2020 • परिवर्तन चक्र

गोरखपुर 29 जुलाई, 2020:  भारतीय रेल की ’’उत्कृष्ट रेल कोच’’ योजना के तहत कोचों को आधुनिक स्वरूप प्रदान किये जाने के अन्तर्गत पूर्वोत्तर रेलवे के यांत्रिक कारखाना, गोरखपुर एवं इज्जतनगर में कुल 37 कोचों को नया स्वरूप प्रदान किया गया है। यांत्रिक कारखाना, गोरखपुर में 01 जुलाई, 2020 तक 14 कोचों का एवं 15 जुलाई, 2020 तक अन्य 06 कोचों का आधुनिकीकरण किया जा चुका है।

इसी प्रकार यांत्रिक कारखाना, इज्जतनगर में 25 जून, 2020 तक 17 कोचों को आधुनिक स्वरूप प्रदान करने का कार्य सम्पन्न किया जा चुका है। यांत्रिक कारखाना, गोरखपुर द्वारा जिन 20 कोचों को आधुनिक स्वरूप प्रदान किया गया है, जिनका उपयोग 15048/15047 गोरखपुर-कोलकाता-गोरखपुर पूर्वान्चल एक्सप्रेस में किया जायेगा। इज्जतनगर मंडल द्वारा सुधार किये गये 17 कोचों को 12527/12528 रामनगर-चण्डीगढ-रामनगऱ एक्सप्रेस में उपयोग किया जायेगा। 

यांत्रिक कारखाना, गोरखपुर में वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी का 01, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 04, शयनयान के 10, साधारण श्रेणी के 03 एवं एस.एल.आर. 02 कोचों सहित कुल 20 कोचों का आधुनिकीकरण किया गया है। यांत्रिक कारखाना, इज्जतनगर द्वारा वातानुकूलित चेयरकार का 01, चेयरकार के 06, साधारण श्रेणी के 07, एस.एल.आर.डी. का 01 एवं एस.एल.आर. के 02 कोच सहित कुल 17 कोचों का आधुनिकीकरण किया गया है। इन कोचों के प्रसाधन में अच्छी गुणवत्ता के बेसिन, वाटर टैप, स्टेनलेस स्टील के डस्टबिन लगाये गये है। वेंटिलेशन सिस्टम में भी सुधार किया गया है तथा ट्वायलेट आकुपेशन इंडीकेशन बोर्ड भी लगाया गया है।

इसके अतिरिक्त ई-पाॅक्सी फ्लोरिंग की गयी है। कोच के अन्दर विनायल रैपिंग किये जाने के साथ ही बाहर की पेन्टिंग स्कीम को पीच एवं मैरून कलर करके आकर्षक स्वरूप प्रदान किया है। कोचों में पूर्वोत्तर रेलवे क्षेत्र से संबंधित जैसे कि रेलवे म्यूजियम, गुरू गोरक्षनाथ मंदिर, गीताप्रेस, रामगढ़ ताल, गोरखपुर एवं बौद्ध मंदिर कुषीनगर इत्यादि मनोहारी चित्र प्रदर्शित किये जाने के साथ ही पूरे कोच में सभी फिटिंग्स एवं शायिकाओं को पूरी तरह से शत-प्रतिशत ठीक किया गया है।