ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर : हर्सोल्लास के साथ मनाया गया 74वां स्वतंत्रता दिवस
August 16, 2020 • परिवर्तन चक्र

गोरखपुर 16 अगस्त, 2020: पूर्वोत्तर रेलवे के अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल ने स्वतंत्रता दिवस की 73वीं. वर्षगांठ के अवसर पर 15 अगस्त, 2020 को सैयद मोदी रेलवे स्टेडियम, गोरखपुर में आयोजित एक समारोह में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस अवसर पर उन्होंने रेलवे सुरक्षा बल के जवानों द्वारा प्रस्तुत परेड की सलामी ली। 

इस अवसर पर अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल ने रेल अधिकारियों, कर्मचारियों एवं उनके परिवार जनों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई देते हुए कहा कि राष्ट्रगान और स्वतंत्रता दिवस के सम्बन्धों पर विस्तार से प्रकाश डाला और कहा कि आप सभी के लगन, मेहनत एवं समर्पित प्रयासों से इस कोरोना संक्रमण काल में विभिन्न राज्यों से चलाई गई श्रमिक विषेष गाड़ियों के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे के विभिन्न स्टेषनों पर लगभग 10 लाख यात्री आये। गोरखपुर जंक्शन पर सर्वाधिक श्रमिक विषेष गाड़ियाँ आईं। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि सभी देश के विकास में अपना सर्वोत्तम योगदान दें। 

अपर महाप्रबन्धक ने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर गाड़ियों का संचलन एवं क्षमता में बढ़ोत्तरी, आधारभूत संरचना के सुदृढ़ीकरण, कोविड-19 से बचाव, स्वच्छता एवं पर्यावरण, यात्री सुख-सुविधा, रेल राजस्व में वृद्धि हेतु प्रयास, ऊर्जा संरक्षण, संरक्षा एवं सुरक्षा, कर्मचारी कल्याण एवं डिजिटलीकरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय सुधार एवं विस्तार आप सभी के समेकित प्रयासों से हो सका है। इसके लिये उन्होंने सभी को बधाई दी और कहा कि आप सभी के समर्पित प्रयासों से पूर्वोत्तर रेलवे नई ऊचाइयों को छूयेगा। 

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर महाप्रबन्धक श्री एल.सी.त्रिवेदी ने रेल कर्मचारियों के नाम संदेष में स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि मैं देश की स्वतंत्रता हेतु अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले स्वतंत्रता सेनानियों एवं देशभक्तों का नमन करता हूँ। इस राष्ट्रीय पर्व पर मैं सीमा पर तैनात सेना एवं सुरक्षा बल के जवानों के पराक्रम एवं कर्तव्यनिष्ठा की सराहना करता हूँ, जोे विषम परिस्थितियों में भी देष की एकता एवं अखण्डता को बनाये रखने में अपना अतुलनीय योगदान दे रहे हैं। महाप्रबन्धक ने अपने संदेश में कहा कि लाॅकडाउन के दौरान खाद्य  एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिये पार्सल स्पेशलएवं मालगाड़ियों का संरक्षित संचलन किया गया, जिससे क्षेत्र में खाद्य एवं  आवश्यक सामग्री की आपूर्ति बनी रहे। 

उन्होंने पूर्वोत्तर रेलवे पर विद्युतीकरण, आमान परिवर्तन एवं दोहरीकरण कार्यों पर प्रकाष डाला। कोविड-19 से बचाव के लिये उठाये गये कदमों से अवगत कराते हुये महाप्रबन्धक ने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर 217 सवारी यानों को कोविड केयर कोच में परिवर्तित किया गया और मऊ जंक्शन इन कोविड केयर कोच का उपयोग करने वाला देश का पहला स्टेषन बना। रेलवे चिकित्सालय,गोरखपुर में 200 बेड तथा मंडलीय चिकित्सालय, इज्जतनगर में 70 बेड के आइसोलेषन वार्ड को कोविड लेवल-। का हास्पिटल बनाया गया है। रेलवे चिकित्सालय, गोरखपुर में 25 बेड का कोविड लेवल-2 का वार्ड बनाया गया है, जहाँ कोरोना मरीजों का सफलतापूर्वक इलाज हो रहा है। 

महाप्रबन्धक ने स्वच्छता, पर्यावरण संबर्द्धन एवं यात्री सुख-सुविधाओं के क्षेत्र में किये गये प्रयासों से अवगत कराते हुये कहा कि पिछले वर्ष कुल 8.31 लाख पौधे लगाये गये तथा रेलपथ के समीप कुल 9 ग्रीन नर्सरी विकसित की गयी। गोरखपुर, बादषाहनगर एवं टनकपुर स्टेशनों के फसाड के सुन्दरीकरण का कार्य पूर्ण किया गया तथा गोरखपुर, वाराणसी सिटी एवं बादशाहनगर स्टेशनों पर अनेक यात्री उन्नत यात्री सुविधायें उपलब्ध कराई गयीं। रेलवे के आर्थिक स्वास्थ्य को सुदृढ़ करने के लिये उठाये गये कदमों की चर्चा करते हुये कहा कि मुख्यालय एवं मण्डल स्तर पर बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट गठित की गयी है, जिसके सकारात्मक परिणाम आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2297 सवारी यानों, 421 स्टेषनों, सभी रेलवे आवासों एवं सर्विस भवनों में शत-प्रतिशत एल.ई.डी. लाइट लगाई जा चुकी है। महाप्रबन्धक ने संरक्षा एवं सुरक्षा के क्षेत्र में उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुये कहा कि इस वर्ष कोई भी परिणामी दुर्घटना नहीं हुई। माह जून तक विभिन्न स्टेशनों पर 138 बच्चों को बरामद कर उनके परिजनों या विभिन्न समाजसेवी संस्थाओं को सुपुर्द किया गया।

एच.आर.एम.एस. के अन्तर्गत 46,841 कर्मचारियों का मास्टर डाटा एवं 44,972 कर्मचारियों का सेवा अभिलेख अपलोड कर दिया गया है। एम.एस.टी.सी. गोरखपुर एवं जेड.आर.टी.आई. गाजीपुर में आनलाइन प्रशिक्षण प्रारम्भ कर दिया गया है। इस वर्ष जून, 2020 तक अनुकम्पा के आधार पर 17 मृतक आश्रितों को नियुक्ति प्रदान की गयी। डिजिटलीकरण को बढ़ावा देते हुये कार्यालयों में ई-आफिस एवं इंजीनियरिंग कार्यालयों में ई-डास लागू किया गया । 

महाप्रबन्धक ने आषा व्यक्त की कि सभी रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों के सामूहिक प्रयासों पूर्वोत्तर रेलवे निरन्तर प्रगति पथ पर अग्रसर रहेगा। 

कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए स्वतंत्रता दिवस समारोह गृह मंत्रालय द्वारा जारी सुरक्षा मानको का पालन करते हुए आयोजित किया गया। रेलकर्मियों एवं उनके परिवार जनों ने यू-टयूब एवं फेस बुक के माध्यम से इस समारोह का लाइव प्रसारण देखा।