ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
पीएम किसान योजना : किसानों के खाते में जल्द आएंगे 2-2 हजार रुपये, इस तरह लिस्ट में चेक करें अपना
September 12, 2020 • परिवर्तन चक्र

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत केंद्र सरकार किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देती है। यह 2000-2000 रुपये की तीन सम्मान किस्तों में किसानों के खाते में ट्रांसफर किए जाते हैं। एक अगस्त से योजना की छठी किस्त दो हजार रुपये किसानों के खाते में आने लगे हैं।

वहीं, अब किसानों को अगली 2000 रुपये की किस्त बहुत जल्द ही मिल जाएगी। बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों के हित में कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही है। लेकिन, अगर आपको अभी तक कोई किस्त नहीं मिली है तो आप लिस्ट में अपना नाम चेक कर लें।

किसे मिलता हैं लाभ प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाने के लिए आपके पास किसान के नाम खेती की जमीन होनी चाहिए। अगर कोई किसान खेती कर रहा है, लेकिन खेती की जमीन उसके नाम नहीं है तो वो योजना के लिए पात्र नहीं होगा।

इसके अलावा अगर कोई खेती की जमीन का मालिक है, लेकिन वह सेवारत या सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी हो या फिर पूर्व या वर्तमान सांसद/विधायक/मंत्री हो, पेशेवर निकायों के पास रजिस्टर्ड डॉक्टर हो, इंजिनियर हो, वकील हो, चार्टर्ड अकाउंटेंट हो या भी इनके परिवार के लोग हों, ये सभी इस योजना के लाभार्थी नहीं बन सकते हैं। इसके अलावा जिन्हें 10,000 रुपये या इससे अधिक पेंशन मिलती है, वे सभी पेंशनर भी इस योजना के लाभार्थी नहीं बन सकते हैं।

इस तरह चेक करें लिस्ट अपन नाम सूची में देखने के लिए आपको सबसे पहले वेबसाइट योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाना होगा। यहां होम पेज पर आपको ‘फार्मर कार्नर’ दिखाई देगा, इस पर क्लिक कर दें। इसके बाद में यहां ‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर क्लिक करें। अब अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें। इतना भरने के बाद Get Report पर क्लिक करें। इसके बाद पूरी लिस्ट खुल जाएगी। यहां आप अपना नाम चेक कर सकते हैं।

दुरुस्त कर लें रिकॉर्ड अगर आवेदन में किसी प्रकार की गड़बड़ी मिलती हैं, तो आप इस किस्त से वंचित रह सकते हैं। बता दें कि आवेदन के दौरान लोग सबसे ज्यादा नाम और खाता संख्या में गड़बड़ी करते हैं। इसलिए योजना का लाभ उठाने के लिए इन्हें दुरुस्त करना जरूरी है।