ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
नकली इंजेक्शन का स्टॉक बरामद, कोरोना के इलाज में हो रहा था इस्तेमाल
July 19, 2020 • परिवर्तन चक्र

ड्रग्स डिपार्टमेंट की टीम ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. इनके पास से बड़े पैमाने पर 400 एमएल की नकली टोसिलिजुमैब इंजेक्शन बरामद की गई है. इसकी अनुमानित कीमत लगभग 8 लाख रुपये बताई जा रही है.

सूरत से गिरफ्तार किए गए नकली इंजेक्शन का कारोबारी

गांधी नगर से आई टीम ने छापेमारी कर बरामद किया स्टॉक

देश कोरोना वायरस की महामारी से जूझ रहा है. इस महामारी को रोकने के लिए सरकारें और प्रशासन तमाम कवायदें कर रहे हैं. अस्पतालों में चिकित्सक देश के कई इलाकों में पड़ रही भीषण गर्मी के बावजूद घंटों पीपीई किट में एक-एक संक्रमित की जान बचाने के लिए उपचार कर रहे हैं. वहीं, कई लोग ऐसे भी हैं जो कोरोना के उपचार में उपयोग की जाने वाली जीवन रक्षक दवाओं और इंजेक्शन की नकली खेप की आपूर्ति करने से बाज नहीं आ रहे.

गुजरात के सूरत में गांधीनगर से आई फुड्स एंड ड्रग्स डिपार्टमेंट की टीम ने ऐसे ही एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जो कोरोना के उपचार में उपयोग किए जाने वाले टोसिलिजुमैब इंजेक्शन के नाम पर नकली इंजेक्शन की आपूर्ति कर रहा था. ड्रग्स डिपार्टमेंट की टीम ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. इनके पास से बड़े पैमाने पर 400 एमएल की नकली टोसिलिजुमैब इंजेक्शन बरामद की गई है. इसकी अनुमानित कीमत लगभग 8 लाख रुपये बताई जा रही है.

इस संबंध में फुड एंड ड्रग्स डिपार्टमेंट के कमिश्नर डॉक्टर एचजी कोशिया ने बताया कि अहमदाबाद के संजीवनी अस्पताल में कार्यरत डॉक्टर देवांग शाह को टोसिलिजुमैब इंजेक्शन को लेकर शंका हुई. ऐसा तब हुआ, जब वे एक कोरोना संक्रमित को लाइफलाइन माना जाने वाला यह इंजेक्शन लगा रहे थे. डॉक्टर शाह ने जब चेक किया, तो पाया कि इंजेक्शन का कंटेंट अलग है. डॉक्टर ने मरीज के परिजनों से उस मेडिकल स्टोर के संबंध में जानकारी ली, जहां से यह इंजेक्शन लाया गया था.

डॉक्टर कोशिया के मुताबिक साबरमती इलाके के उस मेडिकल स्टोर के मालिक आशीष शाह के बगैर बिल के एक लाख 35 हजार रुपये मूल्य के इंजेक्शन लेने की बात सामने आई. जांच के दौरान ये खुलासा हुआ कि मेडिकल स्टोर संचालक ने इंजेक्शन सूरत के निवासी सोहेल इस्माइल से लिए थे. उन्होंने बताया कि जानकारी के आधार पर ड्रग्स डिपार्टमेंट की टीम ने इस्माइल के घर छापेमारी की तो इस गोरखधंधे का खुलासा हो गया. उन्होंने बताया कि नकली इंजेक्शन के धंधे में संलिप्त सोहेल इस्माइल, नीलेश लालीवाला, अक्षय शाह, हर्ष ठाकोर और आशीष शाह को गिरफ्तार कर लिया गया.