ALL ताजा खबरें राष्ट्रीय समाचार परिवर्तन चक्र स्पेशल शिक्षा समाचार दुनिया समाचार क्रिकेट समाचार मनोरंजन समाचार पॉलिटिक्स समाचार क्राइम समाचार साहित्य संग्रह
नासा ने जारी की चेतावनी, पृथ्वी की तरफ तेज़ी से बढ़ रहे हैं पांच उल्का पिंड
June 4, 2020 • परिवर्तन चक्र

अमेरिकी स्‍पेस एजेंसी NASA ने जानकारी दी है कि पांच उल्का पिंड तेज़ी से पृथ्वी की तरफ बढ़ रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक आज शाम ये उल्का पिंड पृथ्वी से टकरा सकते हैं.
five asteroid flying by earth today nasa tracker

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने ऐसे पांच उल्का पिंड (asteroid) की पहचान की है, जो तेज़ी से पृथ्वी की तरफ बढ़ रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक इनमें से पहला उल्का पिंड आज दोपहर 2 बजकर 13 मिनट पर पृथ्‍वी के पास से होकर गुज़रेगा. यह उल्का पिंड लगभग 108 फीट चौड़ा है. इसके अलावा दूसरा उल्का पिंड शाम करीब छह बजे पृथ्वी के पास से होकर गुज़रेगा.

बताया जा रहा है कि इनमें सबसे बड़ा उल्का पिंड 2020 केएफ है, जिसका व्यास लगभग 144 फीट है. यह उल्का पिंड रात करीब नौ बजे पृथ्वी के पास से गुज़रेगा. इनके अलावा दो उल्का पिंड और पृथ्वी के पास से होकर गुज़रेंगे. यह सभी उल्का पिंड 34,000 मील प्रति घंटे की गति से पृथ्वी की तरफ आ रहे हैं.

रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि सबसे बड़ा उल्का पिंड 2020 केई 4 है, इसका व्यास 171 फीट बताया जा रहा है. यह उल्का पिंड 20,000 मील प्रति घंटे की रफ्तार से हमारी तरफ बढ़ रहा है.

नासा के सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज (CNEOS) के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार टाइम्स वेबसाइट की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यह उल्का पिंड अगर पृथ्वी से टकरा भी गए तो ज्यादा नुकसान नहीं होगा. बताया जा रहा है कि यह उल्का पिंड पृथ्वी के ज्यादा करीब नहीं आ पाएंगे और यह पृथ्वी के वायुमंडल में ही जलकर फट जाएंगे.

भविष्य के खतरों से पहले ही अवगत है NASA

गौरतलब है कि NASA का Sentry सिस्टम ऐसे खतरों पर पहले से ही नज़र रखता है। इसमें आने वाले 100 सालों के लिए फिलहाल 22 ऐसे उल्का पिंड हैं, जिनके पृथ्वी से टकराने की थोड़ी सी भी संभावना है। इस लिस्ट में सबसे पहला और सबसे बड़ा उल्का पिंड 29075 (1950 DA) है, जो 2880 तक पृथ्वी की तरफ नहीं आने वाला है। इसका आकार अमेरिका की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग से भी तीन गुना ज्यादा है. एक समय में माना जाता था कि पृथ्वी से टकराने की इसकी संभावना सबसे ज्यादा है।