ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
मोदी सरकार ला रही हैं 5 करोड़ नौकरियां, बेरोजगारों के लिए बनाया खास प्लान
September 11, 2020 • परिवर्तन चक्र

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के कारण उद्योग क्षेत्रों में मंदी का असर देखा जा सकता है। लॉकडाउन के दौरान लाखों की संख्या में लोग बेरोजगार हो गए। हालांकि, देश में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने और रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मोदी सरकार कई कदम उठा रही है।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि सरकार ने आने वाले पांच साल में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग क्षेत्र में 5 करोड़ अतिरिक्त रोजगार देने का लक्ष्य रखा है। केंद्र सरकार ने इसके लिए प्लान तैयार कर लिया है। मंत्री निति गडकरी ने कहा कि जल्द ही 5 करोड़ नौकरियों को सृजन किया जाएगा।

5 साल में 5 करोड़ नौकरियां नीति अयोग द्वारा बुधवार को आयोजित किए गए एक वर्चुअल बैठक में गडकरी ने आत्मनिर्भर भारत 'अराइज अटल न्यू इंडिया चैलेंज' पहल की सराहना की। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगले 5 साल में एमएसएमई सेक्टर में नई 5 करोड़ नौकरियां पैदा होंगी। इस समय ये सेक्टर 11 करोड़ लोगों को रोजगार देता है। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि देश की GDP में एमएसएमई सेक्टर की भागीदारी 50 फीसदी हो, जो इस समय को 30 प्रतिशत है। वहीं, इस MSME सेक्टर का निर्यात में 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 60 फीसदी करना है।

MSME में 11 करोड़ को रोजगार का अवसर बता दें कि देश के MSME सेक्टर में 11 करोड़ लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करता है। लेकिन, अब जल्द ही 5 करोड़ रोजगार और जुड़ जाएंगे। सरकार इस सेक्टर की मदद से नए टैलेंट को बढ़ावा देना चाहती है।गडकरी ने कहा कि इस चैलेंज के जरिए अलग-अलग क्षेत्रों में आ रही समस्याओं के हल निकालने के लिए नई प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में आ रही समस्याओं का समाधान ढूंढने में नई तकनीक के उपयोग को प्रोत्साहित करने की दिशा में काम करने का आह्वान किया।