ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
मंडल रेल प्रबंधक श्री विजय कुमार पंजियार ने आज मंडुवाडीह कोचिंग डिपो में कराये जा रहे प्रोजेक्ट कार्यों का किया गहन निरिक्षण
September 18, 2020 • परिवर्तन चक्र

वाराणसी 18 सितम्बर, 2020: मंडल रेल प्रबंधक श्री विजय कुमार पंजियार ने आज मंडुवाडीह कोचिंग डिपो में कराये जा रहे प्रोजेक्ट कार्यों का गहन निरिक्षण किया। इस दौरान उनके साथ वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय) श्री राजीव अग्रवाल, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर (कैरेज एण्ड वैगन) श्री सत्यप्रकाश श्रीवास्तव,सहायक नगर इंजीनियर श्री एन.के. पाठक एवं कोचिंग डिपो अधिकारी/मंडुवाडीह श्री शैलेश कुमार सिंह उपस्थित थे। इस दौरान मंडल रेल प्रबंधक ने कोचिंग डिपो का गहन निरिक्षण किया और सम्बंधित अधिकारीयों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने एजेंसी द्वारा अगले सप्ताह प्रारंभ होने वाले सिक लाइन के फ्लोर रिपेयर वर्क का कार्य हेतु सिक कोचेज के प्लेसमेंट की यथोचित प्रबंधन करने तथा सिक लाइन फ्लोर रिपेयर के समय लिफ्टिंग टैकल की कम ऊँचाई को देखते हुए रेल लेवल को सावधानीपूर्वक निर्धारित करने का निर्देश दिया।

इस दौरान मंडल रेल प्रबंधक ने वाशिंग पिट संख्या 01 एवं 02 पर लगाये जाने वाले ACWP हेतु 30 मीटर स्ट्रेट लाइन बढ़ाने की आवश्यकता को देखते हुए वाशिंग पिट संख्या 01 को वाराणसी कैंट की तरफ 40 मीटर खाली स्थान तक विस्थापित करने तथा अनुपयोगी कोचिंग डिपो के पश्चिम छोर पर मौजूद डी.एल.डब्लू. के इंजन टेस्टिंग लाइन को हटाये जाने का निर्देश दिया। इसके साथ उन्होंने वाशिंग पिट संख्या-03 एवं 04 की ओर लगने वाले ऑटोमेटिक कोच प्लांट के लिए निर्धारित स्थान पर मौजूद पॉइंट मशीनों को वाटर टाइट सीक्योरिंग करने ,वाशिंग पिट संख्या-04 के बगल में हो रहे नये पिट निर्माण को गुडवत्तायुक्त और तय समय सीमा में पूरा करने और इसमें बाधक परित्यक्त पुराने आर.पी.एफ. बैरकों को जल्दी डिसमेंटल करने का निर्देश दिया । इसके साथ ही मंडल रेल प्रबंधक ने नये बनने वाले वाशिंग पिट पर एक ओर T कैटवाक बनाये जाने की दशा में वाशिंग पिट बनाने की सम्भावनायें तलाशने पर बल दिया जिससे एक और कैटवाक के निर्माण की लागत भी बचे और पिट संख्या 01 को तोड़ने की आवश्यकता भी न पड़े।

निरिक्षण के क्रम में मंडल रेल प्रबंधक ने संयुक्त प्रशिक्षण केंद्र का भी निरिक्षण किया और प्रशिक्षण केंद्र की छत और फ्लोर रिपेयरिंग करने, सोलर विद्युत प्लांट लगाने , वाटर ड्रेनेज ठीक करने का निर्देश दिया । उन्होंने डिपो परिसर से निकलने वाली नालियों के पक्के निर्माण कराने एवं कोचिंग डिपो के ड्रेनेज सिस्टम को सुधारने हेतु मंडुवाडीह गुमटी के निकट क्रास ड्रेन को साफ कराए जाने साथ ही ड्रेन रिपेयर हेतु कैपिटल वर्क प्लान बनाने का निर्देश दिया।