ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
महिला PCS अफसर मणि मंजरी राय की मौत में BJP चेयरमैन पर मुकदमा, सामने आये ये सनसनीखेज मामले-
July 9, 2020 • परिवर्तन चक्र

बलिया | बलिया के मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय की मौत के मामले में बुधवार को नया मोड़ आया। भाजपा नेता और नगर पंचायत के चेयरमैन भीम गुप्ता के खिलाफ अपराध संख्या 215 / 2020 आईपीसी की धारा 306 के तहत केस दर्ज कर लिया गया। मणि मंजरी के भाई विजयानंद ने चेरयमैन पर कई सनसनीखेज आरोप लगाते हुए नामजद तहरीर दी थी। चेयरमैन के अलावा मनियर के पूर्व ईओ, टैक्स लिपिक, कंप्यूटर आपरेटर और मणि मंजरी के चालक पर भी केस दर्ज किया गया है। भाई ने इन लोगों पर न सिर्फ उनकी बहन पर गलत काम के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया बल्कि फर्जी हस्ताक्षर कर करोड़ों के खेल की बात कही है।

मनियर की 30 वर्षीय पीसीएस अफसर मणि मंजरी की लाश सोमवार को उनके कमरे में पंखे के हुक से लटकती मिली थी। अधिकारी के पिता ने भी मंगलवार को बेटी की हत्या कर लटकाने का आरोप लगाया था। मंजरी के भाई ने जिस तरह के आरोप लगाए हैं, उसी तरह के आरोप अधिशासी अधिकारी सेवा संघ ने भी एक दिन पहले लगाते हुए डीएम को पत्र दिया था। मणिमंजरी के भाई विजयानंद बुधवार को कोतवाली पहुंचे और पुलिस को तहरीर देते हुए एफआईआर लिखवाई। एफआईआर के अनुसार नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता कुछ ठेकेदारों के साथ मिलकर लगातार गलत भुगतान कराने का अधिशासी अधिकारी पर दबाव बना रहे थे। इन लोगों के दबाव के कारण ही अधिशासी अधिकारी ने खुद को तीन महीने तक जिला मुख्यालय पर संबद्ध करा लिया था। दोबारा मनियर में तैनाती हुई तो फिर दबाव बनाया जाने लगा।

एफआईआर के अनुसार मणिमंजरी का फर्जी हस्ताक्षर बनाकर शासन से पैसा भी मंगाया गया। इसमें टैक्स लिपिक विनोद सिंह और कंप्यूटर आपरेटर अखिलेश भी शामिल थे। नगर पंचायत अध्यक्ष बिना टेंडर कराए ही दो करोड़ के 35 कार्यों को कराने का दबाव बना रहे थे। इसमें 18 काम एक ही ठेकेदार को दिया गया था। इसकी शिकायत अपर जिलाधिकारी से भी की गई थी।

अधिशासी अधिकारी की गाड़ी का ड्राइवर भी उन लोगों से मिला हुआ था। शनिवार को ही ड्राइवर को हटा दिया था। अधिशासी अधिकारी के भाई विजयानंद ने कहा कि जब भी वह बहन के यहां आता था, यह सब बातें बताती थी। शहर कोतवाल विपिन सिंह के अनुसार केस दर्ज कर लिया गया है। टीम बनाकर आगे की जांच की जाएगी।