ALL ताजा खबरें राष्ट्रीय समाचार परिवर्तन चक्र स्पेशल शिक्षा समाचार दुनिया समाचार क्रिकेट समाचार मनोरंजन समाचार पॉलिटिक्स समाचार क्राइम समाचार साहित्य संग्रह
लोको पायलट की सूझबूझ से एक बड़ी दुर्घटना होने से बची
June 14, 2020 • परिवर्तन चक्र

लखनऊ 13 जून 2020:   मानव जीवन अमूल्य है तथा रेलवे लाइन को सुरक्षित तरीके से पार करने की जिम्मेदारी प्रमुख तौर पर सड़क उपयोगकर्ताओं की होती है। भारतीय रेलों पर होने वाली दुर्घटनाओं में अनाधिकृत रूप से रेलवे लाइन पार करने  पर होने वाली दुर्घटनाएं बचाई जा सकती हैं, क्यूंकि अधिकतर दुर्घटनायें सड़क उपयोगकर्ताओं की लापरवाही से होती है। प्रायः देखा जाता है कि लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर रेलवे ट्रैक  को अनाधिकृत रूप से क्रास करने का प्रयास करते हैं, जिससे उनकी जान माल की हानि के साथ ट्रेन में यात्रा कर रहे यात्रियों की जान भी खतरे में पड़ जाती है।  

गाड़ी सं0 02542 एलटीटी-गोरखपुर एक्सप्रेस दोपहर गोमतीनगर स्टेशन से रन थू्र मल्हौर स्टेशन की ओर जा रही थी। तभी 12.10 बजे अचानक एक युवक लक्ष्मी नारायण, अपनी  मोटर साइकिल सं0 यूपी 77 आर 6627 से अनाधिकृत रूप से रेलवे लाइन क्रास कर रहा था। ट्रेन को नजदीक आते देख अपनी मोटर साइकिल रेलवे ट्रैक पर छोड़कर भाग गया। गाड़ी सं0 02542 के लोको पायलट ने मोटर साइकिल को ट्रैक पर पड़ा देखकर इमरजेंसी ब्रेक लगाकर गाड़ी खड़ी करने की कोशिश की, किन्तु गाड़ी रूकते रूकते मोटर साइकिल से टकरा गयी। टक्कर लगने से इंजन का कांटा क्षतिग्रस्त हो गया। जिसको ठीक करने में  19 मिनट का विलम्बन हो गया। लोको पायलट की सूझबूझ से एक बड़ी दुर्घटना होने से बच गयी, तथा किसी भी प्रकार कि जान माल कि हानि नहीं हुई। उक्त युवक के विरूद्व रेल प्रशासन द्वारा एफआईआर दर्ज कर दिया गया है।

लखनऊ मण्डल संरक्षा विभाग द्वारा नियमित अंतराल पर संपूर्ण मंडल में सभी समपारों पर गुजरते समय बरती जाने वाली सावधानियों एवं जन-जागरण अभियान चलाया जाता है। इसी परिप्रेक्ष्य में दिनांक 11 जून 2020 को मंडल में ’अन्तर्राष्ट्रीय समपार जागरूकता दिवस’ मनाया गया।  जिसमे संरक्षा सलाहकारों, नागरिक सुरक्षा संगठन तथा स्काउट व गाइड के स्वयं सेवकों द्वारा रेलवे ट्रैक के निकटवर्ती क्षेत्रों में  नुक्कड़ नाटक के माध्यम से  तथा संरक्षा संदेश से सम्बन्धित हैण्ड बिल, पैम्पलेट, पोस्टर्स  एवं बैनर्स आदि के माध्यम से  कर मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 131 तथा रेलवे अधिनियम 1989 की धारा 161 से लोगों को अवगत कराकर उन्हें रेल संरक्षा के प्रति जागरूक किया जाता है तथा उन्हें सड़क वाहन उपयोगकर्ताओं की लापरवाही से समपारों पर होने वाली दुर्घटनाओं के प्रति सचेत भी किया जाता है। रेलवे प्रशासन द्वारा आम जनता से पुनः अपील की जाती है कि वह रेलवे ट्रैक को अनधिकृत रूप से पार न करें अपितु नियमों का पालन करते हुए समपार फाटकों के माध्यम से ही रेलवे ट्रैक को पार करें, जिससे कि किसी भी अप्रिय घटना को होने से बचाया जा सके।