ALL ताजा खबरें राष्ट्रीय समाचार परिवर्तन चक्र स्पेशल शिक्षा समाचार दुनिया समाचार क्रिकेट समाचार मनोरंजन समाचार पॉलिटिक्स समाचार क्राइम समाचार साहित्य संग्रह
कोरोना से बचने के लिए घरेलू नुस्खों की ओवर डोज सब पर भारी, बीमार पड़ रहे लोग
July 31, 2020 • परिवर्तन चक्र

नई दिल्ली। जब से कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप बढ़ा है, लोग देसी इलाज (Desi treatment) पर ज्यादा जोर देने लगे हैं। इस मामले में स्वास्थ्य विशेषज्ञों (Health Experts) ने भी संक्रमण से बचने के लिए इम्युनिटी (Immunity) बढ़ाने पर जोर दिया था। लेकिन इसका दुरुपयोग बढ़ने यानि अपने मन से ओवर डोज (Over Dose) लेने से लोग बीमार पड़ने लगे हैं।

इस मामले में चिकित्सकों का कहना है कि इम्युनिटी बढ़ाने का मतबल यह नहीं होता है कि आप घरेलू नुस्खों की अति लेने लग जाएं। लोगों का बीमार पड़ना उसी ओवर डोज का नतीजा है।

दरअसल, कोरोना वायरस संक्रमण ( Coronavirus infection ) से बचने के लिए अधिकांश लोगों ने स्वास्थ्य विशेषज्ञों और आयुष मंत्रालय ( Ayush Ministry ) द्वारा दिए गए सुझावों और परंपरागत स्वास्थ्यवर्धक विधियों को अपना रहे हैं। इनमें अधिकांश चीजें भारतीय रसोई से जुड़ी हैं। ये चीजें हमेशा से लाभकारी साबित होती आई हैं। लेकिन लोगों से कोरोना के डर से जरूरत से ज्यादा मात्रा में इसका सेवन शुरू कर दिया। नतीजा यह निकला कि लोग बीमार पड़ने लगे हैं।

बीमार क्यों पड़ रहे हैं लोग?

इस मामले में होम्योपेथी (Homeopathy ) के जानकारों का कहना है कि अगर भूख से अधिक भोजन कर लिया जाए तो वह भी नुकसान करता है। ठीक इसी तरह यदि घरेलू नुस्खों का पालन करते हुए मसालों का अधिक उपयोग करेंगे तो परेशानी तो होगी ही।

मसालों की ओवर डोज नुकसानदेह

दरअसल, काली मिर्च, हल्दी, अदरक, अजवाइन, मेथी, तुलसी पत्ती, लौंग, काढ़ा जैसी चीजें यदि संतुलित मात्रा में प्रतिदिन उपयोग की जाएं तो इनका कोई बुरा असर नहीं होता है। बल्कि हमारा शरीर बलिष्ठ होता है। लेकिन इसी का अधिक मात्रा में प्रयोग करेंगे या दुरुपयोग करेंगे तो यह शारीरिक और मानसिक ( physical and mental ) दोनों समस्याओं को कारण साबित होती हैं।

पिछले कुछ दिनों से जो मरीज आ रहे हैं उनसे बातचीत में यह जानकारी सामने आ रही है कि लोगों ने घरेलू नुस्खे पर जोर दिया और बहुत अधिक मसालों का उपयोग करनेवाले और अधिक मात्रा में विटमिन टैबलेट्स लेने लगे। ऐसे मरीजों में आमतौर पर हर समय गले रूखापन रहना, शुष्कता के कारण खांसी आना, एसिडिटी, सीने पर जलन की समस्या और चिड़चिड़ापन या मूड स्विंग्स की दिक्कतें देखने को मिल रही हैं।

चिकित्सा विशेषज्ञों ( Health Experts ) का कहना है कि नींबू हमारे शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने और हमें कई तरह के संक्रमणों से बचाने में लाभकारी है। लेकिन कोरोना संक्रमण से बचने के लिए और विटमिन-सी ( Vitamin C ) की प्राप्ति के लिए लोग इतनी अधिक मात्रा में नींबू का सेवन कर रहे हैं कि इस कारण उन्हें सिरदर्द, डलनेस, गले से संबंधित दिक्कतें, बुखार जैसा महसूस होना, गैस्ट्रिक इश्यूज जैसी समस्याएं हो रही हैं।

इससे बचने के उपाय

जिन लोगों को घरेलू नुस्खों के प्रभाव में आकर गर्म चीजों का अधिक सेवन उन्हें सबसे पहले इसका संतुलित उपयोग शुरू कर देना चाहिए। जिन्हें अधिक समस्या है उन्हें स्थिति के आधार पर उपचार दिया जा रहा है। उपचार के बाद मरीज ठीक भी हो रहे हैं।