ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
कोरोना संकट के बीच कोरोनिल की बंपर ब्रिकी? मांग पूरी करना मुश्किल : बाबा रामदेव का दावा
August 7, 2020 • परिवर्तन चक्र

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच पतंजलि की आयुर्वेद कोरोनिल दवा की मांग काफी बढ़ी है। योग गुरु बाबा रामदेव ने दावा किया है कि कोरोनिल के हर रोज करीब 10 लाख पैकेट की मांग हो रही हैं। इतनी ज्यादा मांग को पूरा करने के लिए कंपनी को जूझना पड़ रहा है।

कोरोना से लड़ने के लिए प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली इस विवादित दवा पर बाबा रामदेव ने कहा कि रोज 10 लाख पैकेट की मांग के बदले कंपनी केवल एक लाख पैकेट की ही आपूर्ति ही कर पा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट में हमने इस दवा की कीमत केवल 500 रुपये रखी। अगर हमने इसकी कीमत 5000 रुपये भी रखी होती तो हम आसानी से 5000 करोड़ रुपये कमा सकते थे, लेकिन हमने ऐसा नहीं किया।

आयुष मंत्रालय ने लगाई थी रोक बता दें कि इससे पहले बाबा रामदेव ने कोरोनिल को लेकर जून में दावा किया था कि इससे कोरोना के मरीजों को ठीक किया जा सकता है। हालांकि, इसके बाद आयुष मंत्रालय ने इस दवा की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था। केंद्रीय मंत्रालय की ओर से कहा गया कि कोरोनिल को केवल प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवा के तौर पर बेचा जा सकता है।

बता दें कि उद्योग संस्था द्वारा आयोजित 'आत्मनिर्भर भारत- वोकल फॉर लोकल' कार्यक्रम के दौरान बाबा रामदेव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए यह बात कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि पतंजलि ने गाय के घी को 1300-1400 करोड़ रुपये का सालाना ब्रांड बनाया है। वहीं पतंजलि समूह के अनुमानित कारोबार की बात करें तो यह 10,500 करोड़ के करीब है।

साभार-पत्रिका