ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
क्लैट परीक्षा में सी.एम.एस. छात्र आशीष शर्मा लखनऊ टॉपर
October 15, 2020 • परिवर्तन चक्र

लखनऊ, 15 अक्टूबर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के 18 मेधावी छात्रों ने काॅमन लाॅ एडमीशन टेस्ट (क्लैट) में चयनित होकर विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है, जिनमें सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) के छात्र आशीष शर्मा ने 57वीं आॅल इण्डिया रैंक के साथ लखनऊ में टाॅप कर लखनऊ का गौरव बढ़ाया है एवं नेशनल लाॅ स्कूल आफ इण्डिया यूनिवर्सिटी, बंगलूरू में अपना चयन सुनिश्चित किया है। आशीष ने आई.एस.सी. (कक्षा-12) की परीक्षा वर्ष 2019 में 94.50 प्रतिशत अंको के साथ सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) से उत्तीर्ण की। एक अनौपचारिक वार्ता में आशीष ने बताया कि कानून की पेचीदगियां मुझे हमेशा से पसन्द रही है और इस क्षेत्र में कैरियर बनाना मेरा सपना रहा है। आशीष के पिता जियोलाॅजिकल सर्वे आफ इण्डिया में एक्जीक्यूटिव इंजीनियर हैं।

आशीष के अलावा, सी.एम.एस. के 17 और छात्र भी क्लैट परीक्षा परिणाम में शानदार प्रदर्शन के उपरान्त देश के शीर्ष विधि विश्वविद्यालयों में प्रवेश हेतु चयनित हुए हैं, जिनमें सी.एम.एस. अलीगंज (प्रथम कैम्पस) से आशीष शर्मा, सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) से क्षितिज शान्डिल्य, अतीब काजमी, समृद्धि पाण्डेय, सिद्धार्थ, अनिन्दय प्रियदर्शी एवं इशिता शंकर, सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) से विवेक कुमार, अनुषा सिंह एवं जिगिशा चैधरी, सी.एम.एस. स्टेशन रोड कैम्पस से आयुष यादव, सी.एम.एस. महानगर कैम्पस से सिद्धार्थ मलिक, सी.एम.एस. राजाजीपुरम (प्रथम कैम्पस) से शीतल, शिवांगी ओझा एवं अतुफा आलम एवं सी.एम.एस. राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) से सृष्टि वर्मा, इशिता शर्मा एवं उत्कर्ष गुप्ता शामिल है।

सी.एम.एस. संस्थापक व प्रसिद्ध शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने आशीष व अन्य छात्रों को उनकी शानदार उपलब्धि के लिए हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि सी.एम.एस. अपने छात्रों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता अर्जित करने हेतु उच्च स्तरीय शिक्षा प्रदान करने के साथ ही उन्हें प्रोफेशनल करियर के लिए तैयार करता है। यही कारण है कि सी.एम.एस. छात्र प्रतिवर्ष विभिन्न प्रतियोगिताओं में शानदार सफलता अर्जित कर विद्यालय का नाम गौरवान्वित कर रहे हैं।

डा. गाँधी ने विश्वास व्यक्त किया है कि सी.एम.एस. के ये होनहार छात्र आगे चलकर देश ही नहीं अपितु विश्व की न्यायिक व्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देंगे तथापि प्रभावशाली अन्तर्राष्ट्रीय कानून व्यवस्था के प्रयासों को गति प्रदान करेंगे।