ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
करोड़ों की संपत्ति के लालच में जीजा ने की साले की हत्या
September 2, 2020 • परिवर्तन चक्र • उत्तर प्रदेश

पुलिस को आरोपी वीरेंद्र ने बताया कि प्रयागराज के झलवा इलाके में उसके साले राजीव ने करोड़ों रुपये की जमीन बना रखी है. उसी जमीन को हड़पने के लिए उसने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी. शव की पहचान न हो सके इसलिए उसे जलाने का प्रयास भी किया था.

उत्तर प्रदेश में कौशांबी जनपद के पिपरी कोतवाली इलाके से बीते सात अगस्त को लापता हुए एयरपोर्ट के संविदाकर्मी के हत्याकांड से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है. एयरपोर्टकर्मी की हत्या उसके सगे बहनोई ने अपने साथियों के साथ मिलकर की है. पुलिस की मानें तो करोड़ों की संपत्ति के लालच में जीजा ने अपने साले की हत्या कर शव को जलाने का प्रयास किया था.

एयरपोर्टकर्मी का शव फतेहपुर जनपद के असोथर थाना क्षेत्र में मिला था. पुलिस ने जीजा समेत उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि, हत्या की वारदात में शामिल दो अन्य साथियों की तलाश की जा रही है. मृतक राजीव कुमार सिंह उर्फ राजू पिपरी थाना क्षेत्र के जलालपुर घोसी गांव का रहने वाला था. वह प्रयागराज के बमरौली एयरपोर्ट पर संविदा कर्मचारी था.

बीते सात अगस्त को राजीव कुमार सुबह घर से एयरपोर्ट के लिए निकला था. शाम को जब वह वापस नहीं लौटा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की. अगले दिन पिपरी कोतवाली में राजीव के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई. गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस राजीव की तलाश में जुट गई. 9 अगस्त को फतेहपुर जनपद के असोथर थाना क्षेत्र में नहर किनारे एक युवक की अधजली लाश मिली जिसकी पहचान राजीव के रूप में हुई.

कौशांबी की पिपरी पुलिस राजीव के परिजनों के साथ फतेहपुर पहुंची और कानूनी कार्रवाई कर शव को वापस ले आई. पिपरी पुलिस इस हत्याकांड के खुलासे के लिए प्रयास में जुट गई. कई मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाने के बाद पिपरी पुलिस ने मृतक एयरपोर्ट संविदाकर्मी राजीव के बहनोई फतेहपुर जनपद के नरैनी गांव निवासी वीरेंद्र को पूछताछ के लिए उठाया. पुलिस ने वीरेंद्र से कड़ी पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया. 

पूछताछ में आरोपी वीरेंद्र ने बताया कि प्रयागराज के झलवा इलाके में राजीव ने करोड़ों रुपये की जमीन बना रखी है. उसी जमीन को हड़पने के लिए उसने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी. शव की पहचान न हो सके इसलिए उसे जलाने का प्रयास भी किया था. वीरेंद्र अपने साले राजीव को उसकी छोटी बहन का रिश्ता करवाने के बहाने घटना वाले दिन फतेहपुर बुलाकर ले गया था. जहां पहले उसे जमकर शराब पिलाई गई, उसके बाद उसे मौत की नींद सुला दिया गया.

अपर पुलिस अधीक्षक समर बहादुर का कहना है कि पुलिस ने वीरेंद्र के साथ उसके साथी विपिन को भी गिरफ्तार कर लिया है. इस हत्याकांड का खुलासा करने के बाद पुलिस अब वीरेंद्र के दो अन्य साथी राजू बैरागी और मुलायम मौर्य की तलाश में जुट गई है. अपर पुलिस अधीक्षक समर बहादुर ने बताया कि संपत्ति के लालच में एयरपोर्ट संविदाकर्मी की हत्या की गई थी. हत्या में इस्तेमाल की गई कार भी बरामद कर ली गई है. पुलिस ने मृतक का जला हेलमेट और कार से तेल की बोतल भी बरामद की है. गिरफ्तार किए गए दोनों हत्या आरोपियों को अन्य कागजी कार्रवाई कर जेल भेज दिया गया है.