ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
कभी ये बच्चा कौन बनेगा करोड़पति में जीते थे एक करोड़ रुपये, आज बन चुके हैं आईपीएस
September 16, 2020 • परिवर्तन चक्र

33 साल के रवि मोहन सैनी ने मई में गुजरात के पोरबंदर में एसपी के पद पर ज्वाइन किया. इससे पहले रवि राजकोट सिटी में डीसीपी के पद पर तैनात थे. रवि मूल रूप से अलवर के रहने वाले हैं.

इन दिनों संघ लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा को लेकर प्रतियोगियों के बीच काफी चर्चा हो रही है. यह परीक्षा 4 अक्टूबर को होनी है. इसी बीच कई ऐसे सफल प्रतियोगी हैं जिनकी चर्चा होती रहती है. इनमें से एक हैं IPS रवि मोहन सैनी. दिलचस्प बात ये है कि रवि मोहन सैनी कौन बनेगा करोड़पति में एक करोड़ रूपये भी जीत चुके हैं.

दरअसल, 2001 में केबीसी के स्पेशल संस्करण केबीसी जूनियर में रवि मोहन सैनी ने एक करोड़ की ईनामी राशि जीती थी. तब उनकी उम्र महज 14 साल की थी. रवि मोहन सैनी ने 2014 में यूपीएससी की परीक्षा उत्तीर्ण की और गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी बने.

33 साल के रवि मोहन सैनी ने मई में गुजरात के पोरबंदर में एसपी के पद पर ज्वाइन किया. इससे पहले रवि राजकोट सिटी में डीसीपी के पद पर तैनात थे. रवि मूल रूप से अलवर के रहने वाले हैं. उनके पिता नेवी में थे. रवि ने स्कूली पढ़ाई विशाखापत्तनम में नैवल पब्लिक स्कूल से की थी.

एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि उन्होंने महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज जयपुर से एमबीबीएस किया. एमबीबीएस के बाद इंटर्नशिप के दौरान उनका चयन सिविल सर्विस में हो गया. उनके पिता नेवी में थे, इसलिए उनसे प्रभावित होकर आईपीएस चुन लिया. सैनी का चयन 2014 में हुआ था.

जब रवि मोहन ने यह केबीसी में इतनी बड़ी रकम जीती थी तो वो दसवीं क्लास में पढ़ते थे. हालांकि उस समय रवि मोहन सैनी को पूरी रकम नहीं मिल पाई थी. यह बाद में दी गई थी क्योंकि केबीसी के नियमों के अनुसार ईनामी राशि 18 साल की उम्र के बाद दी जाती थी.