ALL ताजा खबरें राष्ट्रीय समाचार परिवर्तन चक्र स्पेशल शिक्षा समाचार दुनिया समाचार क्रिकेट समाचार मनोरंजन समाचार पॉलिटिक्स समाचार क्राइम समाचार साहित्य संग्रह
इम्‍युनिटी बढ़ाने वाले काढ़े के ओवरडोज से बचें, हो सकता है ये नुकसान
July 29, 2020 • परिवर्तन चक्र

नई दिल्ली। कोरोना के संक्रमण से खुद को बचाने के लिए साधना जैन दिन में कई बार काढ़ा पीने के साथ-साथ विटामिन सी की टेबलेट भी खाया करती थीं. ये सिलसिला कई महीनों तक चला लेकिन फिर उनके सामने नई मुश्किलें खड़ी हो गईं. कॉन्स्टिपेशन, पेट दर्द जैसी समस्या उन्हें लगातार परेशान कर रही थी और जब वो डॉक्टर के पास गईं तो पता चला कि मसालों और विटामिन सी की ओवरडोज की वजह से उन्हें इस तकलीफ का सामना करना पड़ रहा है.

कोरोना वायरस को मात देने के लिए सबसे बड़ा हथियार है इम्यूनिटी. और इम्‍युनिटी को बढ़ाने के लिए आजकल लोग तरह-तरह के नुस्खे आजमा रहे हैं. इसके लिए कोई अश्वगंधा, काली मिर्च, तुलसी, लौंग, लहसुन, हींग जैसे मसालों से बना काढ़ा पी रहा है‌ तो कोई दिन में कई बार विटामिन सी की गोलियां खा रहा है.

लेकिन दवाई और काढ़े की सही मात्रा की जानकारी न होने की वजह से अब ये लोगों के लिए नई मुश्किल खड़ी हो रही हैं.

मेडिसिन विभाग सीनियर कंसल्टेंट में डॉ. आशीष जायसवाल कहते हैं, दालचीनी, गिलोय, काली मिर्च जैसी चीजों का ओवरडोज अल्सर, पेट दर्द या सीने में जलन की वजह बन रहा है. ये लीवर को भी नुकसान पहुंचाता है. मसालों के ओवरडोज की वजह से पेट दर्द पेट में अल्सर, एसिडिटी लोगों को परेशान कर रही है तो गिलोय का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल शुगर लेवल को भी कम कर रहा है.'

फिक्र की बात ये है कि अगर डायबिटीज के मरीज गिलोय का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो ब्लड शुगर लेवल बहुत कम हो जाता है और अस्पताल में भर्ती होने जैसी स्थिति भी पैदा हो सकती है. मसालों की ओवरडोज की वजह से प्रेग्नेंट महिलाओं का अबॉर्शन तक हो सकता है. विटामिन सी के ओवरडोज की वजह से क्रेम्स, उल्टी जैसी कई परेशानियां हो सकती हैं.

-हर रोज ढाई ग्राम हल्दी खाना सेहत के लिए अच्छा है तो इससे ज्यादा मात्रा सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है.

-अगर हर रोज 8 ग्राम या उससे ज्यादा हल्दी खाई जाए तो लूज मोशन, डायरिया, कब्ज और अल्सर जैसी बीमारी हो सकती है.

-हर रोज 1 ग्राम विटामिन सी आपको सेहतमंद रखता है तो इससे ज्यादा मात्रा किडनी को नुकसान पहुंचा सकती है और पथरी भी हो सकती है.