ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
हाथों में बार-बार आता है पसीना? ये हो सकता है कारण - जानिये कैसे पाएं छुटकारा
September 14, 2020 • परिवर्तन चक्र • स्वास्थ्य

Haathon me paseena aana : सामान्य तापमान रहने पर भी जिन्हें हाथ और पैर के तलवों में पसीना आता है, उन्हें अपनी सेहत के प्रति अलर्ट हो जाना चाहिए।

Sweaty Hands : गर्मी के मौसम में पसीना निकलना बेहद आम बात है। किसी को सिर पर, तो किसी के नाक पर ज्यादा पसीना आता है। वहीं, हथेलियों में पसीना आने को भी अक्सर लोग नजरअंदाज कर देते हैं। पसीना आने के लोग स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा मानते हैं। हालांकि, जरूरत से ज्यादा पसीना बेचैनी या फिर किसी अन्य परेशानी की ओर भी इंगित कर सकता है। हथेलियों से पसीना आना कई बार असुविधाजनक भी हो सकता है। ऐसे में अगर नॉर्मल टेम्परेचर होने के बावजूद भी आपको हाथों में पसीना आने की शिकायत है तो सतर्क होने की जरूरत है। ये समस्या हाइपरहाइड्रोसिस बीमारी का लक्षण हो सकता है। आइए जानते हैं :–

क्या है हाइपरहाइड्रोसिस बीमारी : ज्यादा गर्मी होने पर पसीना आना स्वाभाविक है। लेकिन सामान्य तापमान रहने पर भी जिन्हें हाथ और पैर के तलवों में पसीना आता है, उन्हें अपनी सेहत के प्रति अलर्ट हो जाना चाहिए। हाइपरहाइड्रोसिस बीमारी दो प्रकार की होती है, एक प्राइमरी और एक सेकेंड्री। प्राइमरी हाइपरहाइड्रोसिस में बिना कारण भी पसीना निकलते रहता है। जबकि सेकेंड्री हाइपरहाइड्रोसिस के कारण लोग कई बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं और यही वजह है कि हाथ-पैर से पसीना निकलता है।

सेकेंड्री हाइपरहाइड्रोसिस है खतरनाक : हाइपरहाइड्रोसिस से पीड़ित लोगों के शरीर में पसीने की ग्रंथि ओवर एक्टिव हो जाती है। इसी वजह से उनके शरीर में पसीना अधिक मात्रा में निकलता है। सेकेंड्री हाइपरहाइड्रोसिस हाई ब्लड शुगर, लो ब्लड शुगर, हाइपर थायरॉइडिज्म जैसी कई बीमारियों को बुलावा देता है। इसमें ठंड हो या बगैर घबराहट और तनाव के भी पसीना आते रहता है। इस बीमारी में हाथ और पैर के तलवों के अलावा, चेहरे और बाजुओं पर भी पसीना आता है।

ये करें घरेलू उपाय : हाथों पर ज्यादा पसीना नहीं आए, इसके लिए कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल किया जा सकता है। खाने में अधिक मसालों का सेवन भी हाथों में पसीने की समस्या को बढ़ाता है। ऐसे में जरूरी है कि लहसुन. प्याज और बाकी मसालों का इस्तेमाल सीमित मात्रा में ही करें। हाथों से पसीने को सोखने के लिए एक कटोरे पानी में 4-5 टीबैग डालें। अब अपने हाथों को उस पानी में रखें। नियमित ऐसा करने से पसीना आना कम होगा।