ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
घर में नहीं खाने के दाने, रेड पड़ी तो निकली 100 करोड़ की मालकिन, जानिये पूरा मामला
September 14, 2020 • परिवर्तन चक्र

कहते है किस्मत में अगर कुछ है तो लोग चाहे कितने आड़े अड़ा ले लेकिन हमें वो मिलकर रहता है जो हमारा है। लेकिन अगर किस्मत में है ही नही तो सामने आती लक्ष्मी भी दिखाई नही पड़ती। ऐसा ही एक अनोखा मामला हमारे सामने आया है, जिसमें एक अकेली महिला अपने दो बच्चों को पालने के लिए मजदूरी का काम करती थी। वो महिला अपने घर को चलाने के लिए एक-एक पैसे की मोहताज थी। लेकिन एक दिन जब अचानक उसके घर में इनकम टैक्स की रेड पड़ी तो वहीं महिला 100 करोड़ की मालकिन निकली।

दरअसल बात ये है कि एक महिला जिसका नाम संजू देवी है। पति की मौत के बाद से उसके पास कमायी का कोई जरिया नही रहा फिर भी जैसे तैसे मजदूरी कर वह अपने बच्चों का पेट पालती है। जहां एक तरफ संजू देवी खेती तो साथ ही जानवर पालकर भी अपने दिन गुजारती है। लेकिन हाल ही में जयपुर में इनकम टैक्स वालों की मानें तो संजू देवी पूरे 100 करोड़ की संपति की मालकिन है। फिर भी वह अपना घर इस तरह से मेहनत करके चलाती है।

इनकम टैक्स द्वारा जयपुर दिल्ली हाइवे पर 100 करोड़ से ज्यादा की कीमत की 64 बीघा जमीन खोज निकाली है। जिसकी मालकिन यह आदिवासी महिला है। चौंकाने वाली बात तो ये है कि ये बात खुद उस महिला को नहीं पता और उसे ये भी नहीं मालूम यह जमीन खरीदी कब गई। फिलहाल इनकम टैक्स वालों ने इसको अपने कब्जे में ले लिया है। अब हाल ही में इनकम टैक्स द्वारा इस जमीन के पास बैनर लगा दिया गया है। बैनर पर लिखा गया है कि “बेनामी संपत्ति निषेध अधिनियम के तहत इस जमीन पर को बेनामी घोषित करते हुए आयकर विभाग अपने कब्जे में ले रहा है”

5 गांव के 64 बीघे जमीन पर लगे बैनरों पर लिखा हुआ है कि इस जमीन की मालकिन संजू मीणा है, जो कि इस जमीन की मालकिन नहीं हो सकती है। जिसके मुताबिक इनकम टैक्स विभाग फौरी तौर पर जमीन को अपने कब्जे में ले रहा है।

आपको बता दें कि जब इस मामले की जांच की गई थी तो पड़ताल से मालूम हुआ कि दीपावास गांव की संजू मीणा ने बताया कि उसके पति और ससूर मुंबई में काम किया करते थे। उस दौरान 2006 में उसे जयपुर के आमेर में ले जाकर एक जगह अंगुठा लगवाया था। वहीं पति की मौत को करीब 12 साल हो गए है और उसको नही पता कि कौन सी संपति उनके पास है। पति की मौत के बाद 5 हजार कोई घर पर ही दे जाता था। जिसमें संजू व उसकी फुफेरी बहन आधे आधे पैसे अपने पास रखती थी। लेकिन वही अब कई सालों से कोई पैसे देने नहीं आता।

पूर्ण रूप से जानकारी के मुताबिक आयकर विभाग को शिकायत मिली थी कि दिल्ली हाइवे पर बड़ी संख्या में दिल्ली और मुंबई के उघोगपति आदिवासियों के फर्जी नाम पर जमीन खरीद रहे हैं। इनका सिर्फ कागजों में लेनदेन हो रहा है। जिसके बाद इनकम टैक्स विभाग ने इसके असली मालिक की खोज शुरू की फिर पता चला ये सच।