ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
डॉक्टरों ने युवती को घोषित किया मृत, अंतिम संस्कार से ठीक पहले हो गई जिंदा
August 27, 2020 • परिवर्तन चक्र
 
मेरठ । मौत के बाद कोई फिर से जिंदा हो जाए, यह सिर्फ कहानियों में ही सुना जाता है, लेकिन मवाना कस्बे में ऐसा वाकया असल में सामने आया है। यहां मोहल्ला मुन्नालाल निवासी एक युवती मौत के कुछ घंटे बाद अचानक जिंदा हो गई। उसे दिल्ली के एक अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया था। युवती को दफनाने के लिए सभी तैयारियां कर ली गई थीं लेकिन अचानक ही युवती के शरीर में हलचल होने लगी। परिजनों में हड़कंप मच गया। फिलहाल, युवती को घर पर ऑक्सीजन दिया जा रहा है।
 
बताया जा रहा है कि कस्बे के मोहल्ला मुन्ना लाल निवासी 20 वर्षीय आसमा 24 अगस्त को अचानक दिल का दौरा पड़ने के कारण बेहोश हो गई थी। गंभीर हालत में परिजनों ने उसे दिल्ली के अलशिफा अस्पताल में भर्ती कराया। परिजनों ने बताया कि बुधवार सुबह अस्पताल में आसमा को मृत घोषित कर दिया गया। उसके बाद परिजन शव लेकर मवाना लौट रहे थे । परिजनों ने घर फोन कर दिया और बताया कि शव को दफनाने के लिए सभी तैयारियां पूरी कर लें। कब्र भी खोद ली गई थी। इन सबके बीच देर शाम परिजन जब शव लेकर मवाना अपने आवास पहुंचे तो अचानक आसमा के हाथ-पैर हिलने लगे। परिजन भी हैरत में पड़ गए। आसमा के जिंदा होने की जानकारी के बाद नगर पालिका से कब्र खोदने के लिए लगाई गई लाइटें वापस की गई तथा दफनाने की तैयारियां रोक दी गई ।
 
इस मामले को लेकर मोहल्ले में तरह-तरह की चर्चा बनी हुई है। फिलहाल, युवती जिंदा है। स्थानीय चिकित्सकों को बुलाकर उसका इलाज कराया जा रहा है। हालत गंभीर होने के चलते उसे कृत्रिम ऑक्सीजन दी जा रही है। परिवार के लोग दिल्ली के अस्पताल में भी संपर्क कर रहे हैं। कुदरत के इस करिश्मे से हर कोई हैरान है। डॉक्टरों द्वारा मृत घोषित युवती के जिवित होने पर परिजनों के साथ ही आसपास के लोग दंग रह गए। दिल्ली से मवाना सीमा में घुसते ही आसमा की सांसें लौट आईं। जीवित बेटी को देख परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं है। लोग इसे कुदरत का करिश्मा मान रहे हैं।