ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मेजर ध्यानचंद विजयपथ योजना की, की शुरुआत 
August 28, 2020 • परिवर्तन चक्र

प्रदेश के 19 राष्ट्रीय/अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के गांव तक बनाए जाने वाली/मरम्मत की जाने वाली सड़कों का उपमुख्यमंत्री ने किया वर्चुअल शिलान्यास

खेलों का सम्मान और खेल प्रतिभाओं के उत्साहवर्धन व प्रोत्साहन की दिशा मे बड़ा कदम

सड़कों के साथ सामाजिक सरोकारों को जोड़ने की डिप्टी सीएम केशव प्रसाद  मौर्य ने शुरू की अभिनव योजना

प्रदेश स्तर के स्वर्ण पदक विजेता खिलाड़ियों के घरों तक भी बनेंगी सड़कें

पूर्व क्रिकेटर स्व० चेतन चौहान के नाम से भी एक प्रमुख सड़क का किया जाएगा नामकरण : केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ: 28 अगस्त 2020। उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि पदम भूषण मेजर ध्यानचंद विजय पथ का शिलान्यास  कर जहाँ खेलों का सम्मान किया जा रहा है, वहीं खेल प्रतिभाओं का उत्साहवर्धन व प्रोत्साहन को बढ़ावा दिया जा रहा है। श्री मौर्य ने आज राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न खेलों में देश व प्रदेश का मान बढ़ाने वाले खिलाड़ियों के घरों तक सड़कें बनवाने व मरम्मत कराये जाने की अभिनव योजना का शुभारम्भ किया। लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित विश्वेश्रैया हाल में कोरोना महामारी के दृष्टिगत प्रोटोकाल का पालन करते हुए प्रदेश के विभिन्न जिलों के 19 खिलाड़ियों के घरों तक बनाए जाने वाली/मरम्मत किये जाने वाली सड़कों का शिलान्यास किया। सम्बन्धित खिलाड़ियों के जिलों में भी वेबिनार के जरिये कार्यक्रम आयोजित किये गये, जिसमें खिलाड़ी व मा0 जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहे। 

श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि भविष्य में इसी तरह खिलाड़ियों के सम्मान में कार्यक्रम आयोजित किये जाते रहेगें। इस तरह के आयोजनों से खेलों के क्षेत्र में उभरती प्रतिभाओं को प्रेरणा मिलेगी और उनका उत्साहवर्धन भी होगा।आज जिन खिलाड़ियों के घरों तक सड़के बनाने/मरम्मत के कार्यक्रम का शिलान्यास किया गया उनमे मथुरा के श्री पवन कुमार शर्मा, श्री आशीष गौतम (तलवार बाजी), कु0 ईशा धनगर ,जूडो (अन्डर-17 व अन्डर-14),व श्री जीतू गोला (एकल एवं युगल फेंसिंग प्रतियोगिता) शामली के श्री प्रवीन कुमार  (क्रिकेटर),मेरठ के श्री रवि कुमार (निशानेबाजी) बागपत केश्री वरूण पहलवान (कुश्ती), बागपत की ही कोमल शर्मा व कु. तन्या चौधरी (एथलेटिक्स) बागपत की  सुश्री तनु राठी (बाॅलीबाल) गाजियाबाद की अकांक्षा बंसल (शूटिंग -एअर पिस्टल), बुलन्दशहर  के श्री अभिषेक सिंह (कबड्डी) देवरिया के डा0 आर0पी0 सिंह  (हाॅकी) बाराबंकी की सुश्री कविता यादव (क्रास कन्ट्रीदौड़- गोडल मेडेलिस्ट) मथुरा की  वैदेही मिश्रा (जुनियर फेंसिंग प्रतियोगिता), बुलन्दशहर के श्री भुवनेश्वर कुमार  (क्रिकेटर), श्री सतीश कुमार (बाॅक्सिंग) व श्री शान्ति स्वरूप (एशियाई नौकायन) बागपत की श्री छवि तोमर (बाॅलीबाल) हैं,जिनके गांव तक सड़क बनाई जाएंगी और जहां बनी हैं, वहां सुदृढ़ीकरण  कराया जायेगा। 

इस अवसर पर मौजूद रहे हॉकी के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी डॉक्टर आर पी सिंह, क्रास कंट्री  में अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी कविता यादव को उपमुख्यमंत्री ने अंग वस्त्र व प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया।

अपने सारगर्भित ओजस्वी व प्रेरक उद्बोधन में श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि खिलाड़ी हमारे देश का गौरव हैं। इन्होंने अपने नाम के साथ साथ देश और प्रदेश का भी नाम रोशन किया है। हमारी युवा पीढ़ी को इनसे प्रेरणा मिलती रहे, इसलिए इनके नाम से सड़कों का इनके घरों तक निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा इन सड़कों पर अच्छे साइन बोर्ड लगाए जाएंगे, जिन पर इन खिलाड़ियों के नाम और उनकी प्रतिभा का सारा विवरण लिखा जाएगा ताकि क्षेत्र के लोग भी उनसे प्रेरणा ले सकें और गौरवान्वित हो सके। इन सड़को का नाम मेजर ध्यानचंद विजयपथ रखा जाएगा।

श्री मौर्य ने कहा कि  प्रदेश स्तर के स्वर्ण पदक प्राप्त खिलाड़ियों के गांव तक भी सड़कें बनवाई जाएंगी। उन्होंने कहा की भारतीय क्रिकेटर व उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल में मंत्री रहे स्व०चेतन चौहान के नाम से भी एक मुख्य सड़क का नामकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेजर ध्यानचंद हिंदुस्तान के दिलों पर राज करते हैं ,तो ऐसे खिलाड़ी इस देश में बहुत बड़ी संख्या में हो सकते हैं। इसलिए प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में "खेलो इंडिया" अभियान का शुभारंभ किया गया था ।उन्होंने कहा खेलों से शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से व्यक्ति तंदुरुस्त होते हैं ।उन्होंने कहा सरकार खेलों के प्रति बहुत गंभीर है और खेलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। 

उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों/ कर्मचारियों को निर्देश दिए कि वह भी खेलों के लिए एक विभागीय टीम बनाएं और नए कीर्तिमान स्थापित करें ,इससे अन्य विभागों को भी प्रेरणा मिलेगी 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में यूपी बोर्ड के हाईस्कूल/ इंटर के टॉप 20 छात्रों के स्कूलों और घरों के तक सड़क बनाए जाने का कार्य अभियान के तौर पर चल रहा है और इस बार सीबीएससी तथा आईसीएससी बोर्ड में भी टॉप 20 छात्रों के घरों तक डॉ० एपीजे अब्दुल कलाम गौरव पथ के नाम से सड़कों का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा देश के लिए बलिदान देने वाले शहीदों के सम्मान में भी उनके गांव तक सड़कें बनाई जाएंगी और उन सड़कों का नाम शहीद पथ रखा जाएगा, यही नहीं उस शहीद के नाम से विजय द्वार भी बनाए जाएंगे, इसके लिए 30 बलिदानियो की सूची तैयार कर ली गई है। कहा कि प्रदेश मे हर्बल रोड  बनाने का  बहुत अच्छा काम किया गया है। प्लास्टिक मार्ग भी बनाए गए।

उन्होंने कहा  कि अगले वर्ष  खेल दिवस 29 अगस्त को  इन बनाई जाने वाली सड़कों का लोकार्पण होगा और बहुत बड़ी संख्या में सड़कों का शिलान्यास भी किया जाएगा।

लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों का दायित्व बोध कराते हुए कहा कि उन्हें सड़के बनाने के साथ-साथ सामाजिक जिम्मेदारियों का भी  निर्वहन करना है। कोरोना संकटकाल को देखते हुए उन्होंने लोगो से अपील की, कि सभी लोग पूरी गंभीरता के साथ और सावधानी के साथ निर्धारित प्रोटोकाल का पालन करें और कोरोना को बढ़ने से रोकने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करें।

 लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव श्री नितिन रमेश गोकर्ण ने विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं  पर प्रकाश डाला।विभागाध्यक्ष लोनिवि श्री राजपाल सिंह ने सभी अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर बुलंदशहर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री भोला सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि मेजर ध्यानचंद के जन्म दिवस 29 अगस्त को भारत में खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। उनके जन्म दिवस की पूर्व संध्या यानी 28 अगस्त को यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। गौरतलब है कि मेजर ध्यान चन्द को हाॅकी का जादूगर कहा जाता है। इनका जन्म 29 अगस्त 1905 को संगमनगरी प्रयागराज में हुआ था।

भारतीय हाॅकी टीम को ओलम्पिक खेलों में गोल्ड मेडल दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका रही।

इन्हे 1956 में पद्म भूषण सम्मान मिला था।