ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
धूम्रपान करने वालें व्यक्तियों को कोरोना का है अधिक खतरा
September 9, 2020 • परिवर्तन चक्र • कोरोना वायरस

 • स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण मंत्रालय ने पोस्टर जारी कर दी चेतावनी

• हांथ से मूंह तक वायरस के संपर्क में आने की रहती है संभावना

• कोरोना से बचाव के लिए उचित व्यवहारों को अपनायें

वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर तमाम प्रयास किये जा रहें हैं। समुदाय स्तर पर लोगों को इससे बचाव की जानकारी दी जा रही है। लोगों में जागरूकता फैलायी जा रही है। ताकि कोरोना संक्रमण का प्रसार को रोका जा सके। इसके साथ ही स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने पोस्टर जारी कर कहा है, जिसमें कहा गया है कि धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों को कोरोना वायरस का खतरा अधिक है। धूम्रपान करने वालों पर कोरोना वायरस की चपेट में आने का सबसे ज्यादा खतरा है। धूम्रपान करने वाले लोग अपने अंगुलियों से दूषित सिगरेट को अपने होठों तक ले जाते हैं।

ऐसे में उनके मुंह के जरिए कोरोना का संक्रमण फैलने का सबसे बड़ा खतरा है। इसी तरह हुक्का पीने वालों में भी संक्रमण का बड़ा खतरा है। इसका कारण है कि हुक्के के पाइप को कई लोग मुंह में लेते हैं। ऐसे में संक्रमित व्यक्ति के पाइप मुंह में लेने के बाद अन्य सभी लोगों के संक्रमित होने का खतरा होता है।

तंबाकू चबाने वालों पर भी है कोरोना वायरस का खतरा :

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय के गाइडलाइन के अनुसार तंबाकू चबाने वालों में मुख्य रूप से गैर संचारी रोग जैसे- कैंसर, फेफड़े की गंभीर बीमारी और मधुमेह का सबसे अधिक खतरा होता है। ऐसे में कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद तंबाकू चबाने वालों में गंभीर श्वसन संक्रमण रोग होने का खतरा रहता है।

फेफड़ों को गंभीर रूप से प्रभावित करता है धूम्रपान :

धूम्रपान फेफड़ों को गंभीर रूप से प्रभावित करता है। इससे इम्यूनिटी कमजोर होती है शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता कमजोर हो जाती है। धूम्रपान, ई-सिगरेट, धुआं रहित तंबाकू, पान मसाला और इस तरह के उत्पादों का उपयोग फेफड़ों के संक्रमण के जोखिम और गंभीरता को बढ़ा देते हैं।

कोरोना से बचाव में शरीरिक दूरी और मास्क जरूरी :

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कि कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए 6 फीट की दूरी और मास्क का उपयोग बहुत ही जरूरी है। इसलिए मास्क का उपयोग अवश्य करें। एक दूसरे के बीच 6 फीट का शारीरिक दूरी भी अपनाएं। आपकी सुरक्षा पूरी तरह से आपके हाथों में है। इसलिए अपनी आंख नाक और मुंह को छूने से बचे। अपने हाथ को साबुन और पानी से नियमित तौर पर अच्छी तरह से धोएं।

कोविड-19 अनुरूप व्यवहारों को हर समय पालन करें :

कोविड-19 रूप व्यवहारों को हर समय पालन करें और अपने आसपास के लोगों के लिए एक सुरक्षित वातावरण बनाएं। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करना हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी है। कोविड-19 से स्वयं को सुरक्षित रखने का सबसे महत्वपूर्ण उपाय है कि हम सफाई से रहे, मास्क लगाएं और सभी से 2 गज की दूरी बनाकर रखें।