ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
डेंगू बुखार में संजीवनी से कम नहीं ये 8 चीजें
August 26, 2020 • परिवर्तन चक्र

डेंगू बुखार (Dengue fever) में शरीर की प्लेटलेट्स काफी तेजी से गिरती हैं. मच्छरों (Mosquitoes) से फैलने वाले इस संक्रमण में रोगी के जोड़ों में तेज दर्द होता है. बार-बार चक्कर आता है. यह भयंकर बुखार इंसान की मौत का कारण भी बन सकता है. मरीज को इस गंभीर समस्या से निजात दिलाने के लिए डॉक्टर ग्लूकोज के अलावा एंटी बायोटिक और एसिडिटी के इंजेक्शन लगा देते हैं. जबकि कई घरेलू उपचारों से भी रोगी की प्लेटलेट्स बढ़ाई जा सकती हैं. एक व्यक्ति के शरीर में सामान्यत: 1.5 लाख से लेकर 4 लाख तक प्लेटलेट्स होते हैं. इनकी संख्या 50 हजार के नीचे जाते ही रोगी की जान को खतरा हो सकता है. आप कुछ घरेलू नुस्खों (Dengue treatment) से इन प्लेटलेट्स को रिकवर कर सकते हैं.

रक्त के निर्माण के लिए शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा का होना बहुत जरूरी है. नारियल का पानी शरीर में पानी की कमी को तेजी से पूरा कर सकता है. डेंगू के बुखार में नारियल का पानी पीने से इंसान की प्लेटलेट्स (platelet count) बड़ी तेजी से रिकवर होती हैं. इस बीमारी में डॉक्टर आपको सबसे पहले यही घरेलू उपाय बताएंगे.

गिलॉय के पत्तों का जूस या पानी (Giloy juice) नियमित रूप से पीने से भी डेंगू के बुखार का संकट टलता है. 10 गिलोय के बेल के टुकड़े तोड़कर उसे 2 लीटर पानी में थोड़ा सा अदरकर और दो चुटकी अजवाइन के साथ 5-7 मिनट तक उबालें. इसे गुनगुना कर रोगी को खाली पेट देने से चमत्कारी लाभ मिलता है.

प्लेटलेट्स को बढ़ाने में पपीते के पत्तों का रस एक रामबाण इलाज है. 2009 में मलेशिया में हुए एक शोध में पाया गया कि डेंगू के बुखार में पपीते का पत्ता एक शानदार औषधि है. आपको 10-20 मिली लीटर पपीते का रस दिन में रोजाना पीना चाहिए.

जौ यानी व्हीट ग्रास. गेहूं की ताजा घास से बने जूस का सेवन करने से भी रोगी की प्लेटलेट्स को कंट्रोल किया जा सकता है. 150 एमएल घास का जूस पीने से रोगी की हालत में जल्द सुधार आता है.

कीवी में विटामिन-सी, विटामिन-ई और पॉलीफिनॉयल होता है. रोजाना एक कीवी सुबह-शाम खाने से प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से बढ़ना शुरू हो जाती है. इस फल से कॉलेस्ट्रॉल भी कंट्रोल में रहता है.

अनार भी एक पौष्टिक फल है. इसमें प्रचूर मात्रा में आयरन पाया जाता है. यह हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स की मात्रा बढ़ाने में काफी मददगार है. अनार का जूस घर पर तैयार करें और मरीज को रोजाना पिलाएं.

चुकंदर में प्रचूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं. इसका नियमित रूप से सेवन करने से हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स की मात्रा में सुधार होता है. आप चाहें तो रोगी को इसकी स्वादिष्ट सब्जी भी बनाकर खिला सकते हैं. इसका 10 एमएल ताजा जूस भी रोगी को फायदा पहुंचाता है.

कद्दू में प्रचूर मात्रा में विटामिन-के होता है. विटामिन के प्लेटलेट्स की तरह खून को जमाने का काम करता है. रोजाना 150 एमएल कद्दू के रस में शहद मिलाकर पीने से प्लेलेट्स बढ़ती हैं.