ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
देह व्यापार और नशे का कारोबार : 1000 से ज्यादा बांग्लादेशी लड़कियों की तस्करी
October 5, 2020 • परिवर्तन चक्र • दुष्कर्म

इंदौर. मानव तस्करी कर देह व्यापार के लिए लाई गई 20 से ज्यादा बांग्लादेशी व अन्य युवतियों का पुलिस ने रेस्क्यू तो कर लिया लेकिन देशभर में ऐसी लड़कियों की संख्या एक हजार से ज्यादा बताई जा रही है। इन युवतियों के जरिए नशे के कारोबार का भी लिंक मिल रहा है। यह जानकारी आइबी और विदेश मंत्रालय से साझा की गई है। 2 साल पहले साइबर सेल ने वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन एस्कॉर्ट सर्विस चलाने के मामले में मुख्य बदमाश सागर जैन उर्फ सैंडी उसके भाई कपिल जैन, हेमंत जैन और धर्मेंद्र जैन को आरोपी बनाया था।

सैंडी अभी गिरफ्त से बाहर है। एसआईटी प्रमुख एएसपी राजेश रघुवंशी, टीआई तहजीब काजी, विजय सिसौदिया ने अलग-अलग पूछताछ की तो मुम्बई व सूरत में एजेंटों का पता चला है ये लोग बांग्लादेश के एजेंटों के जरिए नौकरी का झांसा देकर लड़कियों को लाते हैं और फिर देह व्यापार व अन्य के नशे का कारोबार भी कराते हैं। सूचना पर मुंबई व आंध्र प्रदेश में पुलिस ने एजेंटों पर केस दर्ज कर धरपकड़ तेज कर दी है। बताया जा रहा है कि कार्रवाई के बाद मुंबई में बड़ी संख्या में लड़कियां को भूमिगत कर दिया गया है।

इस मामले की जानकारी देते हुए डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा के मुताबिक सूरत से लिंक मिलने पर वहां एक टीम छानबीन कर रही है। सागर जैन ड्रग्स तस्करी से भी जुड़ा है, इसके पकड़े जाने के बाद ही नशे के कारोबार का खुलासा हो सकता है।

बता दें कि हाल ही में इंदौर के विजय नगर थाना पुलिस ने अवैध रूप से विदेशी लड़कियों से देह व्यापार कराने वाले गैंग का पर्दाफाश किया था। पुलिस ने इनके कब्जे से 13 लड़कियों, जिसमें कुछ नाबालिग हैं उन्हें मुक्त कराया था। पुलिस ने इस गिरोह के 10 सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जिसमें तीन महिलाएं शामिल हैं।

साभार- पत्रिका