ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
ददुआ-ठोकिया को भी ठोक चुके हैं यूपी एसटीएफ चीफ, इस आईएएस के नाम से ही कांप उठते हैं अपराधी
July 10, 2020 • परिवर्तन चक्र

विकास दूबे एनकाउंटर : देश में तमाम ऐसे आईएएस और आईपीएस अधिकारी हैं जो अपनी कार्यशैली को लेकर काफी चर्चित हैं। ऐसे ही एक तेज तर्रार आईपीएस अफसर का नाम है अमिताभ यश। अमिताभ यश यूपी काडर के IPS अफसर हैं। मौजूदा समय में अमिताभ यश यूपी एसटीएफ के चीफ हैं।

मूल रूप से बिहार के रहने वाले अमिताभ यश 1996 बैच के यूपी काडर के आईपीएस हैं। इन्हें अपराधियों के खिलाफ सख्‍त रवैये के लिए जाना जाता है। अमिताभ एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के तौर पर भी प्रसिद्ध हैं।

एसटीएफ में रहकर अमिताभ यश ने करीब तीन दर्जन से ज्‍यादा यानि अपराधियों को मार गिराया था। इसके अलावा कई दर्जन एनकाउंटर करने वाली टीमों को उन्‍होंने गाइड और लीड भी किया।

दहशत का पर्याय बने ददुआ का एनकांउन्टर अमिताभ यश ने ही 21 जुलाई 2007 को किया था। इसके कुछ दिनों बाद ही उन्होंने कुख्यात डकैत ठोकिया को भी मार गिराया था। बताया जाता है कि ददुआ को खत्म करने के लिए आईपीएस अमिताभ यश अपनी टीम के साथ जंगल में 50 किमी तक पैदल चले गए थे।

ददुआ एनकाउंटर पर बॉलीवुड में किसी फिल्म पर भी काम चल रहा था। तब इस तरह की चर्चा थी कि शाहरुख खान अमिताभ यश के किरदार में दिख सकते हैं।

अपराधियों के लिए अमिताभ यश का मानना है कि लातों के भूत बातों से नहीं मानते हैं। अमिताभ यश के बारे में कहा जाता है कि वह जिस जिले में तैनाती पाते हैं वहां से अपराधी या तो बेल तुड़वाकर जेल चले जाते हैं या फिर जिला छोड़ देते हैं।

अमिताभ यश के बारे में कहा जाता है कि वह जिस जिले में तैनाती पाते थे वहां से अपराधी या तो बेल तुड़वाकर जेल चले जाते थे या फिर जिला छोड़ देते थे।

अमिताभ के पिता श्री राम यश सिंह भी देश के बेहतरीन आईपीएस अफसरों में से एक रहे हैं।

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार दुर्दांत अपराधी विकास दूबे को यूपी एसटीएफ ने एनकाउंटर में मार गिराया है। विकास दूबे के एनकाउंटर के बाद से ही यूपी एसटीएफ एक बार फिर से चर्चा में है।