ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
चितरंजन सिंह एक जनयोद्धा थे : सुशील कुमार पाण्डेय "कान्हजी"
June 27, 2020 • परिवर्तन चक्र

बलिया। चितरंजन सिंह एक जनयोद्धा थे वे क्रांतिकारी आन्दोलनों के साथ नागरिक अधिकार आन्दोलनों के भी शसक्त हस्ताक्षर थे। इसके साथ ही साथ वह एक उच्च कोटि के स्तंभकार भी थे। उनके द्वारा लिखे लेखों को पढ़ के नाइंसाफी के खिलाफ लड़ने की ताकत मिलती थी। गरीबों व समतामूलक समाज और बराबरी के हक के लिए आजीवन संघर्ष करने वाले एक साधारण दिखाने वाले असाधारण व्यक्ति थे चितरंजन सिंह जी। उनका जाना जनांदोलन और नागरिक अधिकार के आवाज का भी जाना है। साथ ही बलिया जनपद ने भी अपना एक संघर्षशील बागी लाल को अलविदा कहा है। उनकी रिक्तता को हाल फिलहाल भरना मुश्किल है।

उक्त बातें समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता सुशील कुमार पाण्डेय "कान्हजी" ने प्रेस को जारी पीयूसीएल के प्रदेश अध्यक्ष स्व. चितरंजन सिंह जी को शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कही।