ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
बेसिक शिक्षा मंत्री से अपील, कोरोना काल में शिक्षकों से न मांगी जाएं अनावश्यक सूचनाएं
July 30, 2020 • परिवर्तन चक्र

बलिया। उत्तर प्रदेश सीनियर बेसिक संघ के वरिष्ठ प्रांतीय उपाध्यक्ष सुशील कुमार पांडेय "कान्हजी" ने बेसिक शिक्षा मंत्री से अपील की है कि कोरोना काल में शिक्षकों से अनावश्यक सूचनाएं न मांगी जाएं। उन्होंने महामारी के प्रकोप का तेजी से प्रसार होने का हवाला दिया है। 

सहायता प्राप्त जूनियर हाई स्कूलों के संगठन से जुड़े शिक्षक नेता सुशील कुमार पांडेय "कान्हजी" ने बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी को लिखे पत्र में कहा है कि पूरे प्रदेश में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। इसके कारण प्रदेश के वाराणसी, प्रयागराज, सुल्तानपुर, चंदौली, गाजीपुर, बलिया व मऊ समेत विभिन्न जनपदों में कैंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। साथ ही स्थानीय स्तर पर जगह-जगह लॉकडाउन घोषित किया गया है। जिसके कारण लोगों का घरों से निकलना मुश्किल है। ऐसी परिस्थितियों में अनावश्यक रूप से विद्यालयों या अध्यापकों से सम्बंधित नई-नई सूचनाएं प्रतिदिन मांगी जा रही हैं। जिसके लिए शिक्षकों को खतरनाक परिस्थितियों में भी घर से निकल कर आवागमन करना पड़ रहा है। जिससे शिक्षकों को कोरोना से संक्रमित होने खतरा हमेशा रह रहा है। इन परिस्थितियों में ऐसी सूचनाएं नहीं मांगी जाएं जो अति आवश्यक न हों। जो सूचनाएं अति आवश्यक न हों, उन्हें कोरोना महामारी खत्म होने के बाद मांगा जाय। श्री पांडेय ने बेसिक शिक्षा मंत्री से मांग किया है कि महानिदेशक व निदेशक बेसिक शिक्षा को निर्देशित करें कि कोरोना के असाधारण समय में विद्यालयों व शिक्षकों से सूचनाएं महामारी के नियंत्रित होने के बाद ही मांगें।