ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
बच्चों का आधार बनाने के लिए करें ये काम, 90 दिन में घर आएगा कार्ड
October 7, 2020 • परिवर्तन चक्र • देश

नई दिल्ली। सरकारी से लेकर प्राइवेट हर काम में आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है। अब तो बच्चे के एडमिशन के लिए भी आधार जरूरी है। अगर आप भी अपने बच्चों के आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपको नजदीकी आधार केयर सेंटर जाना होगा और एक फॉर्म भरना होगा। इसके अलावा कुछ अन्य प्रक्रियाओं को अपनाकर आप इसे आसानी से बनवा सकते हैं।

5 साल से कम उम्र में नहीं दर्ज होगा बायोमेट्रिक डेटा अगर आपका बच्चा 5 साल से कम उम्र का है तो आधार  बनवाने के लिए उसके बायोमेट्रिक डेटा की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके लिए उसकी यूआईडी को पेरेंट्स आधार डेटा के बेसिस पर तैयार किया जाएगा। वहीं अगर बच्चे की उम्र 5 साल से अधिक की है तो उनका बायोमेट्रिक्स डेटा भी रजिस्टर किया जाएगा। इसमें बच्चे की अंगुलियों के निशान समेत उसकी रेटिना की स्कैनिंग होगी।

जन्म प्रमाण पत्र से बनेगा आधार बच्चों का आधार बनवाने के लिए आपको उनका जन्म प्रमाणपत्र देना होगा। आप चाहे तो बच्चे के स्कूल की फोटो वाली आईडी भी दे सकते हैं। इसके अलावा बच्चों के माता—पिता के आधार कार्ड और आईडी प्रुफ की जरूरत होगी। इसी के जरिए उनका आधार कार्ड बनेगा।

एनरोलमेंट स्लिप से चेक करें स्टेटस आधार बनवाने के लिए जरूरी दस्तावेज के जमा करने बाद आपकोएक एनरोलमेंट स्लिप जेनरेट कर दिया जाएगा। इस पर एनरोलमेंट आईडी, नंबर और तारीख लिखी होगी। इस एनरोलमेंट आईडी से आप अपने बच्चे के आधार का स्टेटस चेक कर सकते हैं। आधार एनरोलमेंट के 90 दिनों के अंदर ही आधार कार्ड आपके घर पर पोस्ट कर दिया जाता है।

फ्री में कराएं अपडेट अगर आपने अपने बच्चे का आधार कम उम्र में बनवाया था। अब उसकी आयु 5 से 15 साल के बीच है तो आप उनके आधार में बायोमेट्रिक डेटा को फ्री में अपडेट करा सकते हैं। इसके लिए उनकी 10 उंगलियों की प्रिंट, आखों की पुतली की स्कैनिंग और फोटोग्राफ को अपडेट किया जाएगा।