ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
अपना कर्ज चुकाने के लिए चाचा ने रची 4 साल की भतीजी के किडनैपिंग की साजिश
July 23, 2020 • परिवर्तन चक्र

दिल्ली के शकरपुर इलाके से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जहां पर एक चाचा ने अपनी 4 साल की भतीजी का अपहरण करने की कोशिश की. लेकिन वो अपने इस इरादे में कामयाब नहीं हो सका. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

दिल्ली: अपना कर्ज चुकाने के लिए चाचा ने रची 4 साल की भतीजी के किडनैपिंग की साजिश 4 साल की बच्ची को किडनैप करने की कोशिश नाकाम (Photo Aajtak)
4 साल की बच्ची को किडनैप करने का प्रयासपुलिस ने 24 घंटे में सुलझा दिया पूरा मामला
दिल्ली के शकरपुर इलाके में 4 साल की बच्ची के किडनैपिंग की कोशिश के मामले को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया. इस मामले में पुलिस ने बच्ची के चाचा को गिरफ्तार किया है. उसने 20 लाख का कर्जा उतारने के लिए अपनी ही भतीजी के अपहरण की साजिश रची थी. किडनैपिंग की कोशिश का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद. पुलिस ने 24 घटे के अंदर मामले को सुलझा लिया.

मंगलवार दोपहर पूर्वी दिल्ली जिले की पुलिस में उस समय हड़कंप मच गया. जब पुलिस को बच्ची की किडनैपिंग की सूचना मिली. हालांकि पुलिस को राहत की सांस उस समय मिली जब पता चला कि बदमाश बच्ची को किडनैप करने में असफल हो गए. लेकिन दिनदहाड़े गली में घर के बाहर से बच्ची को अपहरण करने की कोशिश ने पूरे इलाके में सनसनी फैला दी थी.

बच्ची को किडनैप करने में असफल हुए बदमाश

दरअसल यह घटना पूर्वी दिल्ली जिले के शकरपुर इलाके की है, मंगलवार दोपहर कपड़ा व्यापारी की 4 साल की बच्ची को घर के बाहर से अपहरण करने की कोशिश की गई. तरुण गुप्ता जिनका गांधी नगर में कपड़े का व्यापार है, वो परिवार के साथ शकरपुर इलाके में रहते है, जहां बुधवार दोपहर तरुण की 4 साल की बेटी घर के बाहर खड़ी थी. तभी बाइक पर सवार दो अज्ञात बदमाशों ने बच्ची को उठाकर भागने की कोशिश की.

लेकिन बच्ची जोर से रोने लगी और आवाज सुनकर उसकी मां बाहर दौड़ी अपनी बच्ची को छुड़ाने लगी और शोर मचा दिया. जिसके बाद पड़ोसी दौड़ पड़े अपने को फंसता देख किडनैपर बाइक लेकर भागने लगे. पड़ोसी प्रभाकर झा उनके पीछे दौड़े और दूसरे पड़ोसी ने रास्ते में स्कूटी लगा कर रास्ता रोक दिया और बदमाशों की बाइक को गिरा दिया. पर बदमाश चाकू दिखाकर भागने में सफल रहे. ये पूरी वारदात गली में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई.

परिवार ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ली और जांच शुरू की. 24 घंटे के अंदर पुलिस ने मामला सुलझाते हुए हैरान कर देने वाला खुलासा किया. पुलिस ने व्यापारी के सगे छोटे भाई उपेन्द्र गुप्ता को अपनी ही भतीजी के अपहरण की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.

उपेंद्र का कहना है कि उस पर 20 लाख का कर्ज हो गया था और भाई अपने व्यापार में उसे साथ नहीं रखता था. इसलिए अपहरण कर फिरौती मांगने की योजना थी, जिससे वह अपना कर्ज उतार सकता था. इस वारदात में उसने अपने साथी धीरज को भी शामिल किया और उसे एक लाख रुपए देने का वादा भी किया था.

चाचा ने रची बच्ची को किडनैप करने की साजिश

बाइक छोड़कर भागे बदमाशों की बाइक की जांच की गई तो धीरज उनकी गिरफ्त में आ गया. दरअसल वारदात में इस्तेमाल बाइक धीरज की थी जिसे उसने अपने पुराने पते पर लिया था. जहां से पुलिस को धीरज का सुराग मिल गया. फिलहाल पुलिस ने उपेन्द्र और उसके साथी धीरज को गिरफ्तार कर लिया है और जांच कर रही है कि इस पूरे घटना कांड में कहीं कोई और व्यक्ति भी शामिल तो नहीं था.