ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
अब बैंक खाते में पैसा जमा करने और निकालने के लिए भी देना होगा चार्ज, पढ़िए पूरा नियम
November 1, 2020 • परिवर्तन चक्र • देश

धीरे धीरे बैंक अपनी आमदनी बढ़ाने के लिए कई सेवाओं पर चार्ज लगाते जा रहे हैं। जहा सरकार एक ओर तो कैशलेस अर्थव्यवस्था लाने के लिए लोगों से अपील करती है कि वे कैश के बजाए अधिक से अधिक बैंकिंग सिस्‍टम का इस्तेमाल करें| लेकिन पिछले कुछ वर्षों से देखने में आ रहा है कि भारतीय बैंकें कई छोटी-छोटी सुविधाओं के नाम पर मनमाने चार्ज ग्राहकों से वसूलने लगी हैं। बैंकों ने घाटे की भरपाई के लिए ग्राहकों पर ऐसे ऐसे शुल्क लगा दिए हैं जिन्हें पहले कभी नहीं लिया गया।

इसके लिए सिर्फ एसएमएस अलर्ट का ही उदाहरण ले लिया जाए तो बैंक इससे भी खूब कमाई करते हैं। इसके अलावा मिनिमम बैलेंस, एटीएम चार्ज, चेक इस्तेमाल पर बैंक आपसे पैसे वसूलते हैं। अब बैंकों में पैसा जमा करने और निकालने के लिए भी आपको चार्ज देना होगा। बैंक ऑफ बड़ौदा ने इसकी शुरुआत भी कर दी। 1 नवंबर से तय सीमा से ज्यादा बैंकिंग करने पर अब आपको इसका अलग से शुल्क देना होगा। इसके अलावा बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, एक्सिस बैंक, और सेंट्रल बैंक भी इस पर जल्द फैसला ले सकते हैं।

आपको बता दें कि बैंक ऑफ बड़ौदा में चालू खाते कैश क्रेडिट लिमिट और ओवरड्राफ्ट खाते से जमा और निकासी और बचत खाते से जमा और निकाशी के अलग-अलग शुल्क निर्धारित किए हैं। लोन खाते से महीने में 3 बार के बाद पैसा निकालने पर ₹150 हर बार देने पड़ेंगे। बचत खाते में 3 बार जमा किया तो ₹40 देने होंगे। एक दिन में एक लाख तक जमा करने पर निशुल्क जमा होगा और एक लाख से ज्यादा से जमा करने पर एक हजार पर एक रुपए चार्ज देना होगा। (न्यूनतम ₹50 और अधिकतम ₹20 हजार) महीने में 3 बार पैसा निकालने पर आपको कोई शुल्क नहीं देना होगा वही चौथी बार से हर विड्रोल पर आपको ₹150 देना होगा।