ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
आयुर्वेद से जानें दूध पीने के ये 5 अद्भुत फायदे और कुछ महत्वपूर्ण नियम
September 4, 2020 • परिवर्तन चक्र • स्वास्थ्य

दूध आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है. लेकिन आज के समय में दूध की क्‍वालिटी में गिरावट आने की वजह से बहुत से लोगों को इसे पचाने में परेशानी होती है, तो आइए आज हम आपको आयुर्वेद के अनुसार दूध पीने के कुछ नियम और फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं.

दूध को एक संपूर्ण आहार माना जाता है इसलिए यह आपके खानपान का एक बहुत ही प्रमुख हिस्सा होता है. यह आपके शरीर में वात और पित्‍त दोष के स्तर को नियंत्रित करने का कार्य करता है. आयुर्वेद की मानें तो गाय का दूध सबसे अधिक पौष्टिक होता है. दूध आपकी भूख को शांत कर आपको मोटापे से भी छुटकारा दिलाने में बहुत सहायक होता है. लेकिन बहुत से लोगों को दूध आसानी से हजम नहीं हो पाता है. उन्‍हें इसके सेवन से पेट फूलने या पेट खराब होने की शिकायत रहती है. आज के समय में दूध की क्‍वालिटी में गिरावट आ गई है और अगर आपका पाचन तंत्र मजबूत नहीं होता है, तो आपको इसे पचाने में दिक्कत होती है, तो आइए आज हम आपको आयुर्वेद के अनुसार दूध पीने के कुछ नियम और फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं.

बिना शक्कर का दूध पीएं

आमतौर पर बहुत से लोगों को दूध में शक्कर मिलाकर पीने की आदत होती है. आयुर्वेद के अनुसार अगर आप रात में बिना शक्कर का दूध पीीते हैं, तो यह आपके लिए अधिक फायदेमंद होता है. इसके अलावा अगर संभव हो, तो दूध में एक या दो चम्मच गाय का घी भी मिला लें. आयुर्वेद देसी गाय का दूध के सेवन करने पर ज्यादा जोर देता है. आयुर्वेद की मानें तो देसी गाय का दूध अधिक गुणों से भरपूर होता है. वैसे तो शहरों में यह दूध मिल पाना बहुत ही मुश्किल तो होता है लेकिन अगर संभव हो तो इसी दूध का सेवन करें.

ताजा और जैविक दूध पीएं

आज के समय की जीवनशैली को देखते हुए आपको हर चीज पैकेट वाली इस्तेमाल करनी पड़ती है. ज्यादातर लोग दूध भी पैकेट वाला ही खरीदते हैं. यह दूध न तो ताज़ा होता है और न ही जैविक होता है. आयुर्वेद की मानें तो ताजा, जैविक और बिना हार्मोन की मिलावट वाला दूध आपकी सेहत के लिए बेहतर होता है. इसके अलावा कुछ लोग कच्चा दूध पीना पसंद करते हैं जो कि आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक होता है. आयुर्वेद की मानें तो दूध को उबालकर, गर्म अवस्था में ही पीना चाहिए.

दूध में लौंग और इलायची डालकर पीएं

अगर आपको दूध को पचाने में दिक्कत होती है तो आप उसमें थोड़ा पानी मिलाकर सेवन कर सकते हैं. इससे दूध आसानी से पच जाता है. इसके अवाला आप दूध में एक चुटकी अदरक, लौंग, इलायची, केसर, दालचीनी और जायफल आदि मिलाकर सेवन करें, इससे आपके पेट में गर्मी बढ़ती है जिसकी मदद से दूध आसानी से हजम हो जाता है.

अच्छी नींद पाने में मददगार

कभी-कभार ऐसा होता है कि आप किसी वजह से रात का खाना नहीं खा पाते. आयुर्वेद की मानें, तो ऐसी स्थिति में आप एक चुटकी जायफल और केसर डाल कर दूध का सेवन करें. इससे आपको अच्छी नींद पाने में मदद मिलती है साथ ही यह आपके शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता है.

किसी भी नमकीन चीज़ या मछली के साथ दूध न पीएं

आयुर्वेद के अनुसार किसी भी नमकीन चीज़ के साथ दूध का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. इसके साथ ही क्रीम, सूप या चीज़ का सेवन नमक के साथ न करें. दूध के साथ खट्टे फलों का सेवन भी वर्जित है क्योंकि दूध इन चीज़ों के साथ मिलकर रिऐक्शन कर जाता है. इसके अलावा आयुर्वेद की मानें तो दूध और मछली का सेवन एक साथ करने से आपकी त्वचा खराब हो सकती है, इससे आपकी त्वचा पर सफेद या भूरे रंग के धब्बे होने की संभावना होती है.