ALL क्राइम न्यूज स्वास्थ्य घरेलू नुस्खे उत्तर प्रदेश अध्यात्म कोरोना वायरस देश बलिया समाचार दुष्कर्म मनोरंजन
‘‘जय हिन्द वीर पथ" योजना के तहत शहीदों के घरों तक बनेंगी सड़कें : केशव प्रसाद मौर्य
September 4, 2020 • परिवर्तन चक्र • बलिया समाचार

ग्रामीण मार्गों के सुधार का तीव्र अभियान चलाया जाय

लोक निर्माण विभाग की निष्प्रयोज्य परिसम्पत्तियों की नीलामी करायी जाय

जिले से लेकर मुख्यालय स्तर तक के कार्यालयों का मासिक निरीक्षण किया जाय

लखनऊ, दिनांक 04 सितम्बर 2020। उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये हैं कि ग्रामीण मार्गों के सुधार का तीव्र गति से अभियान चलाया जाय। उन्होने कहा कि जहां भी मार्गों के अनुरक्षण की आवश्यकता है, तत्काल अनुरक्षण किया जाना सुनिश्चित किया जाय। इस कार्य में धन की कोई कमी आड़े नहीं आने दी जायेगी। श्री मौर्य आज अपने सरकारी आवास 7-कालिदास मार्ग पर आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होने विभाग में उपलब्ध धनराशि के अवमुक्त किये जाने व अवमुक्त के सापेक्ष व्यय की स्थितियों की जानकारी हासिल करते हुये कहा कि जो धनराशि अवमुक्त की गयी है उसे शीघ्र से शीघ्र सम्बन्धित परियोजनाओं पर व्यय करते हुये निर्धारित मानक के अनुरूप व गुणवत्तापूर्ण कार्य कराया जाना सुनिश्चित किया जाय। श्री मौर्य ने कहा कि जिन कार्यों के लिये धनराशि अभी अवमुक्त किया जाना बाकी है, उन्हे वह धनराशि भी तत्काल अवमुक्त कर दी जाय। उन्होने कहा कि इंजीनियर्स-डे पर विभाग के उत्कृष्ट व उल्लेखनीय कार्य करने वाले अभियन्ताओं व कर्मचारियों को सम्मानित किया जायेगा। उन्होने कहा कि कार्यों में लापरवाही, हीलाहवाली व अनियमितता बरतने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को किसी भी दशा में माफ नहीं किया जायेगा।

श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा देश की रक्षा करते हुये शहीद होने वाले वीर जवानों के नाम से ‘‘जय हिन्द वीर पथ "योजना के तहत शहीदों के घरों/गावों तक सड़कों का निर्माण किया जायेगा। यही नहीं वहां पर शहीदों के नाम से द्वार बनाये जायेगें और बड़े एवं आकर्षक बोर्ड लगाकर बलिदानी सैनिकों का विवरण अंकित किया जायेगा तथा उनके सम्मान में एक सम्मान पत्र भी उनके परिवारीजनों को दिया जायेगा। उन्होने कहा कि सेना के उन जवानों को, जिन्हे वीर चक्र/परमवीर चक्र आदि से सम्मानित किया गया है उन्हे भी जय हिन्द वीर पथ योजना के तहत अच्छादित करते हुये उनके गावों तक सड़कें व द्वार बनाये जायेंगे। उन्होने कहा कि यह कार्य कराते समय वहां कि वीडियो फिल्म बनायी जाय और उसका प्रसारण सोशल मीडिया सहित अन्य मीडिया प्लेटफार्मों के जरीये कराया जाय। श्री मौर्य ने कहा कि जिस तरह से मेजर ध्यानचन्द पथ योजना के तहत राष्ट्रीय/अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों के घरों तक सड़के बनावायी जा रही हैं और उन्हे सम्मानित किया जा रहा है, उसी तरह से डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम गौरव पथ योजना में सम्बन्धित छात्र/छात्राओं को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाय।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि उ0प्र0 में जितने भी स्टेट हाईवे बने हैं/घोषित हुये हैं, उनमें यह देख लिया जाय कि यथासम्भव कोई भी जनपद, विधानसभा क्षेत्र/लोकसभा क्षेत्र अछूता न रहने पाये, यदि कहीं कोई क्षेत्र छूट रहा है, तो उसका आंकलन करते हुये विकल्प के तौर पर कार्ययोजना बनायी जाय। श्री मौर्य ने पी0एम0जी0एस0वाई0 के तहत लोक निर्माण विभाग द्वारा फेज-3 में 42 जनपदों में होने वाले कार्यों के चर्चा करते हुये कहा कि इन कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष नजर रखी जाय तथा पी0एम0जी0एस0वाई0 के खण्डों को लोक निर्माण विभाग में मर्ज करने के सम्बन्ध में भी विधिवत अध्ययन, विचार-विमर्श व सभी परिस्थितियों का आंकलन करते हुये मसौदा तैयार किया जाय। उन्होने कहा कि केन्द्रीय मार्ग निधि के प्रस्ताव के बारे में उ0प्र0 शासन लोक निर्माण अनुभाग-12 व विभागीय इंजिनीयर बैठ कर आपस में चर्चा कर लें और कार्यों की समीक्षा भी कर लें। श्री मौर्य ने कहा कि जनपद प्रयागराज से वाराणसी तक प्रायोजित कांवड़ पथ बनाने के सम्बन्ध में लोक निर्माण विभाग और सिंचाई विभाग के अधिकारी बैठक करके प्लान बनायें। प्रयागराज से वाराणसी-हल्दिया तक क्रूज मार्ग में गंगा नदी में प्रयागराज और बलिया के बीच पड़ने वाले पीपे के पुलों के बारे में जानकारी हासिल करते हुये कहा कि यह अध्ययन कर लिया जाय कि कहां पर नदी सेतु बन जाय, तो पीपे के पुल हटाये जा सकते हैं। इस सम्बन्ध में उन्होने उदाहरण भी दिया कि प्रयागराज में सीरसा के पास पुल बनाने की कार्ययोजना बनायी जाय, यहां पर पुल बन जाने से 3 पीपे के पुल हट सकते हैं। उन्होने कहा क्रूज मार्ग में पड़ने वाले पीपे के पुलों को हटाया नहीं जायेगा, बल्कि क्रूज के गुजरते समय एक विशेष सिस्टम से पीपे के पुल को स्थान विशेष पर टर्न कर दिया जायेगा और क्रूज गुजरने पर पुनः उसे प्रतिस्थापित कर दिया जायेगा।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जितने भी पान्टून पुल हैं, इन पर आवागमन की स्थितियों का ब्यौरा भी प्रस्तुत किया जाय। श्री केशव प्रसाद मौर्य ने विश्व बैंक व एशियन डेवलपमेन्ट बैंक से सहायतित योजनाओं के बारे में जानकारी हासिल करते हुये निर्देश दिये कि इसके अगले पैकेज की अभी से तैयारी सुनिश्चित की जाय। श्री मौर्य ने यह भी निर्देश दिये कि प्रदेश के सभी 75 जिलों में आबादी के घनत्व व अन्य पैरामीटर्स का अध्ययन करते हुये यह रिपोर्ट दी जाये कि वह 5 कौन से जिले हैं, जहां रोड नेटवर्क अपेक्षाकृत सबसे कम है। उन्होने कहा कि पूरे प्रदेश में संतुलित रूप से सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, किसी भी क्षेत्र के साथ कोई भेदभाव किसी भी दशा मंे नहीं होने दिया जायेगा। उन्होने कहा कि रू0 40 लाख तक के ठेकों में आरक्षण सम्बन्धी पत्रावली पूरी कर तत्काल प्रस्तुत की जाय। श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि जिलास्तर से लेकर मुख्यालय स्तर तक प्रत्येक माह कार्यालयों का निरीक्षण अनिवार्य रूप से किया जाय तथा कार्यालय व्यवस्थित रखें जायं, कोविड-19 के तहत कोविड हेल्प डेस्क के साथ-साथ निर्धारित प्रोटोकाॅल का अनिवार्य रूप से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय तथा निर्माणाधीन कार्यों का भी लगातार निरीक्षण किया जाय तथा निरीक्षण आख्या ससमय प्रेषित की जाय व निरीक्षण की वीडियो क्लिप भी भेजी जाय। श्री मौर्य ने कहा कि उनके संज्ञान में आया है कि कहीं-कहीं पर मैनपाॅवर की अधिकता है, तो कहीं पर स्टाफ की बहुत कमी है। उन्होने कहा कि मैनपाॅवर को संतुलित किया जाय तथा जहां जिसकी आवश्यकता है उसे वहां लगाया जाय। अनावश्यक रूप से एक ही स्थल/पटल पर लम्बे समय तक न रखा जाय। उन्होने कहा कि विभाग में बहुत सारी परिसम्पत्तियां निष्प्रयोज्य हैं उनकी नीलामी की कार्यवाही निर्धारित नियमों के तहत करायी जाय। हर्बल रोडों की समीक्षा करते हुये उन्होने कहा कि जहां पर भी विभाग की खाली जमीन हैं, वहां पर वृक्षारोपण किया जाय और विशेष रूप से हर्बल पौधे ही लगाये जायं। श्री मौर्य ने निर्देशे दिये विभाग के राष्ट्रीय मार्ग खण्ड गाजियाबाद के अधिशासी अभियन्ता या किसी अन्य को राष्ट्रीय राजमार्गों के सम्बन्ध में एन0एच0ए0आई0 के साथ समन्वय बनाने तथा समस्याओं के निराकरण हेतु लाइजनिंग आफीसर के रूप में तैनाती की जाय।

प्रमुख सचिव, लोक निर्माण विभाग श्री नितिन रमेश गोकर्ण ने विभाग द्वारा संचालित विभिन्न परियोजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में सचिव लोक निर्माण विभाग श्री समीर वर्मा, विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग श्री राजपाल सिंह, प्रमुख अभियन्ता श्री अनिल कुमार जैन, मुख्य अभियन्ता लो0नि0वि0 (मु0-1) श्री अशोक कुमार अग्रवाल, विशेष कार्याधिकारी श्री प्रदीप कुमार प्रमुख रूप से मौजूद रहे। सम्पर्क सूत्र-बी0एल0 यादव, सूचना अधिकारी।